होम /न्यूज /उत्तराखंड /Monsoon: केदारनाथ में लाइन में खड़े श्रद्धालु अब भीगेंगे नहीं, मौसम बदलते ही Chardham यात्रा में कई तैयारियां

Monsoon: केदारनाथ में लाइन में खड़े श्रद्धालु अब भीगेंगे नहीं, मौसम बदलते ही Chardham यात्रा में कई तैयारियां

केदारनाथ मंदिर प्रांगण में यात्रियों के लिए रेन शेल्टर लगाए गए.

केदारनाथ मंदिर प्रांगण में यात्रियों के लिए रेन शेल्टर लगाए गए.

उत्तराखंड में इस हफ्ते गर्मी से राहत देने वाला मौसम रहने की संभावना मौसम विभाग जता चुका है. न्यूज़18 ने आपको यह भी बताय ...अधिक पढ़ें

देहरादून. मौसम विभाग के अनुमान के हिसाब से कुछ ज़िलों में मौसम बदलने की शुरुआत हो चुकी है. बद्रीनाथ धाम में आज 16 जून की सुबह 10 बजे के बाद हल्की बारिश शुरू होने से ठंड बढ़ने लगी है. उत्तरकाशी में भी तापमान गिरा है. केदारनाथ में कल बुधवार को हुई बारिश के बाद से ठंडक हो गई है. मौसम में बदलाव के बीच मानसून की आमद को ध्यान में रखते हुए तैयारियां भी की जा रही हैं. केदारनाथ यात्रियों के लिए बड़ी खबर यह है कि यहां पहली बार रेन शेल्टर की सुविधा मिलने जा रही है.

मौसम विभाग ने आज गुरुवार और शुक्रवार को पहाड़ के ज़िलों में अच्छी बारिश के अनुमान दिए थे और कहा था कि शाम तक मौसम में बदलाव दिखेगा, लेकिन चार धामों में सुबह से ही मौसम बदला है और गर्मी से राहत है. वहीं, केदारनाथ धाम में दर्शनों के लिए पहुंचने वाले लाखों भक्तो के लिए राहत भरी खबर यह भी है कि दर्शनों के लिए लाइन में खड़े रहने के दौरान तीर्थयात्रियों को बारिश व बर्फ से बचाने के लिए पहली बार केदारनाथ में रेन शेल्टर की व्यवस्था की गई है.

अभी और लगाए जाएंगे ऐसे शेल्टर
केदारनाथ में बर्फबारी व बारिश होने पर तीर्थयात्री परेशान होते थे. यहां तक कि बड़ी संख्या में यात्री हाईपोथर्मिया का भी शिकार होते रहे, लेकिन अब प्रशासन ने रेन शेल्टर लगा दिए हैं. इस बार यात्रियों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए धूप, बर्फबारी और बारिश से बचाव के लिए प्रशासन ने यह पहल की. केदारनाथ मंदिर प्रांगण से गोल चबूतरे तक लगभग साढ़े तीन सौ मीटर की दूरी पर रेन शेल्टर लगाए गए हैं. रुद्रप्रयाग के डीएम मयूर दीक्षित के मुताबिक ऐसे शेल्टरों को हेलीपैड तक लगाए जाने की योजना है.

अलर्ट मोड पर सभी थाने और चौकियां
मानसून से पहले टिहरी में भी सभी थानों और चौकियों को अलर्ट मो़ड पर रखा गया है. चार धाम यात्रा रूट पर भी बछेलीखाल और जाजल में अतिरिक्त टीम तैनात कर दी गई है. वहीं आपदा की दृष्टि से ज़िले के सबसे संवेदनशील घनसाली में एसडीआरएफ की नई पोस्ट खोल दी गई है, जिससे आपदा के समय जल्द से जल्द रिस्पांस किया जा सके.

" isDesktop="true" id="4323691" >

एसएसपी नवनीत सिंह ने अधिकारियों को 24 घंटे फोन एक्टिव मोड पर रखने के निर्देश दिए गए हैं. सिंह का कहना है कि चारधाम यात्रा और मानसून के चलते सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और सभी रेस्क्यू टीमें मुस्तैद हैं.
(शैलेंद्र सिंह रावत, नितिन सेमवाल और सौरभ सिंह के इनपुट्स)

Tags: Monsoon Update, Uttarakhand news, Weather news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें