लाइव टीवी

‘सिर्फ़ बिस्किट के लिए नहीं हुई थी मासूम की हत्या... कई राज़ दफ़न हैं वासु के साथ’

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: March 29, 2019, 10:59 AM IST
‘सिर्फ़ बिस्किट के लिए नहीं हुई थी मासूम की हत्या... कई राज़ दफ़न हैं वासु के साथ’
बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष ऊषा नेगी ने गुरुवार को चिल्ड्रन अकेडमी होम स्कूल का दौरा किया था. (फ़ोटोः आशीष डोभाल)

ऊषा नेगी ने पूछा कि पुलिस ने स्कूल में बच्चे की मौत के मामले को हल्के में क्यों लिया और बच्चे का शव उसके पिता के बजाय स्कूल को क्यों सौंप दिया?

  • Share this:
‘ऋषिकेश के रानी पोखरी में चलने वाले चिल्ड्रन अकेडमी होम स्कूल में मासूम वासु हत्या सिर्फ़ बिस्किट के लिए नहीं हुई थी, ज़रूर वह कुछ ऐसे राज़ जानता था जिनका खुलना ख़तरनाक हो सकता था.’ बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने शुक्रवार को स्कूल का दौरा करने के बाद न्यूज़ 18 से बात करते हुए यह आशंका जताई. ऊषा नेगी स्थानीय पुलिस की भूमिका पर भी बेहद नाराज़ दिखीं. उन्होंने दावा किया कि आयोग इस मामले की तह तक जाएगा और इससे जुड़े सभी राज़ खुलेंगे.

स्कूल में निरीक्षण करने पहुंची तो छोटे-छोटे बच्चों से बनवाया जा रहा था खाना: उषा नेगी

गुरुवार को बाल आयोग अध्यक्ष ने स्कूल का दौरा किया तो उन्हें वहां भारी गड़बड़ियां मिलीं. स्कूल के दौरे में उन्होंने देखा कि हॉस्टल में रहने वाले छोटे-छोटे बच्चों से खाना बनवाया जा रहा था. पीने के लिए गंदा पानी दिया जा रहा था और जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ था. स्कूल में सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी.

करीब 2 घंटे तक आयोग की अध्यक्ष हॉस्टल में मौजूद रहीं, इस दौरान स्कूल प्रबंध समिति मौके से नदारद रही. आयोग की अध्यक्ष स्कूल की हालत देखकर भड़क गईं और जल्द ही प्रबंधक की गिरफ्तारी की बात कही.

दुकानदार को पता होता कि बिस्किट चोरी की शिकायत ले लेगी वासु की जान, तो कभी नहीं कहते

न्यूज़ 18 से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सिर्फ़ बिस्किट चोरी और स्कूल से बाहर जाने पर प्रतिबंध की वजह से बच्चे की इतनी निर्ममता से हत्या नहीं की जा सकती, ज़रूर वह कुछ ऐसे राज़ जानता था जिनका बाहर निकलना ख़तरनाक हो सकता है.

ऊषा नेगी ने बताया कि प्रबंधक स्टीफ़न सरकार का बेटा, जो उसी स्कूल में टीचर है, ने भी एक बार पहले वासु यादव की बुरी तरह पिटाई की थी. स्कूल में सीसीटीवी कैमरे नहीं थी जिससे यह आशंका भी बनती है कि वहां जो हो रहा था उसे छुपाने की कोशिश की जा रही थी.
Loading...

VIDEO: चिल्ड्रन होम अकेडमी स्कूल के ख़िलाफ़ एक्शन ले सकता है सीबीएसई

ऊषा नेगी ने स्थानीय पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि पुलिस ने स्कूल में बच्चे की मौत के मामले को हल्के में क्यों लिया और सबसे बड़ी बात पुलिस ने बच्चे का शव उसके पिता के बजाय स्कूल को क्यों सौंप दिया?

उन्होंने यह भी बताया कि बच्चे के पिता आज देहरादून उनसे मिलने आ रहे हैं. बाल आयोग ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उन्हें इंसाफ़ दिलाने के लिए जो किया जा सकता है, किया जाएगा. ज़रूरत पड़ी तो आयोग अदालत भी जाएगा.

बिस्किट का पैकेट चोरी करने के बाद हुई थी 7वीं कक्षा के छात्र की हत्या, 2 छात्र सहित 5 गिरफ्तार

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2019, 10:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...