लाइव टीवी

मसूरी नगरपालिका ने लिया मोर्चा, अब मिलेगी बंदरों के आतंक से छुट्टी

Sunil Silwal | News18 Uttarakhand
Updated: July 1, 2019, 4:55 PM IST

मसूरी शहर में बंदरो के आतंक से स्थानीय लोगों के साथ ही शहर में आने वाले सैलानी भी परेशान है, जिसके बाद पालिका प्रशासन ने मसूरी वासियों को बंदरो से निजात देने के लिए धरपकड़ शुरू कर दी.

  • Share this:
पहाड़ों की रानी मसूरी में बंदरों के आतंक से लोग परेशान हैं. शहर में बड़ी संख्या में मौजूद बंदर लोगों के लिए बड़ी मुसीबत बन गए है. मसूरी शहर में बंदरो के आतंक से स्थानीय लोगों के साथ ही शहर में आने वाले सैलानी भी परेशान है, लेकिन नगर पालिका प्रशासन का दावा है कि बहुत जल्द मसूरी वासियों को बंदरो से निजात मिलने वाली है. वहीं नगर पालिका प्रशासन ने बंदरों को पकड़ने के लिए बड़े स्तर पर अभियान शुरू किया है.

प्रशासन ने बंदरों को पकड़ने के लिए कसी कमर

बता दें कि नगर पालिका प्रशासन द्वारा शहर के कई इलाकों में सैकड़ों बंदरों को पकड़ कर राजाजी नेशनल पार्क में छोड़ा जा रहा है. बताया जा रहा है कि नगर पालिका ने मथुरा से बंदरों को पकड़ने के लिए चार लोगों की टीम बुलाई है. अभी तक शहर से 302 बंदरों को पकड़ कर मोहंड के जंगल के साथ ही राजाजी नेशनल पार्क में छोड़ा गया है. वहीं नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने दावा किया है कि बहुत जल्द मसूरी वासियों के लोगों को बंदरों के आतंक से मुक्ति मिलेगी.

शहर में बंदरों ने बरपा रखा है कहर

गौरतलब है कि पिछले 5 सालों में बंदरों के हमले से कई लोग घायल होकर अस्पताल पहुंच चुके हैं. शहर में आए दिन बंदरों के हमले से लोग चोटिल हो रहे हैं. लोग सुबह अकेले नहीं घूम पा रहे हैं, मॉर्निग वॉक करने वालों पर भी बंदर अपना कहर बरपा रहे हैं. फिलहाल नगर पालिका प्रशासन ने बंदरों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया है.

यह भी देखें- VIDEO: मसूरी में लोग सुबह अकेले घूमने नहीं जा पाते, क्‍योंकि....

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 1:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...