देहरादूनः तीन साल तैयार है गर्ल्स हॉस्टल, फिर भी छात्राओं नहीं मिल रही सुविधा

अधूरी सुविधाओं की वजह से पॉलीटेक्निक कॉलेज नरेन्द्रनगर में बिंल्डिग बनने के बावजूद न ही छात्राओं को उसमें रहने दिया जा रहा है और न ही टीचर्स स्टाफ खुद रहने को तैयार है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 7:36 PM IST
देहरादूनः तीन साल तैयार है गर्ल्स हॉस्टल, फिर भी छात्राओं नहीं मिल रही सुविधा
राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज नरेंद्रनगर में बने गर्ल्स हॉस्टल का निरीक्षण करते एसडीएम लक्ष्मीराज चौहान.
ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 7:36 PM IST
उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में स्थित नरेंद्रनगर पॉलिटेक्निक कॉलेज में सरकार ने करोड़ों रुपये खर्च कर आलीशान गर्ल्स हॉस्टल और टीचरों के लिए आवास बना दिए हो. लेकिन अधूरी सुविधाओं की वजह से पॉलीटेक्निक कॉलेज नरेन्द्रनगर में बिंल्डिग बनने के बावजूद न ही छात्राओं को उसमें रहने दिया जा रहा है और न ही टीचर्स स्टाफ खुद रहने को तैयार है.

ऐसे में लोगों की शिकायत पर नरेन्द्रनगर में डीएम सोनिका के निर्देश पर एसडीएम नरेंद्रनगर लक्ष्मीराज चौहान ने राजकीय पॉलिटेक्निक नरेंद्र नगर का औचक निरीक्षण किया. एसडीएम के कॉलेज परिसर में प्रवेश करते ही पॉलिटेक्निक कॉलेज प्रशासन हरकत में आया.

कॉलेज भवन का निरीक्षण के दौरान एसडीएम 3 वर्ष पूर्व बने गर्ल्स हॉस्टल का बारीकी से निरीक्षण किया. एसडीएम ने निरीक्षण में पाया कि लाखों खर्च के बाद बने गर्ल्स हॉस्टल को बने हुए 3 वर्ष से ज्यादा का वक्त हो गया हो, लेकिन हॉस्टल में छात्राओं के रहने की व्यवस्था पूरी नहीं हुई है.

निरीक्षण के बाद एसडीएम ने प्रधानाचार्या को निर्देश दिए कि वे जल्द से जल्द गर्ल्स हॉस्टल को चालू करवाएं. उन्होंने निर्देश दिए कि अगर गर्ल्स हॉस्टल को तुरन्त चालू नहीं किया गया, तो इस पर कार्रवाई होगी.

इस दौरान उन्होंने गर्ल्स हॉस्टल के बगल में बने हैं कर्मचारियों के आवासीय कमरों का भी निरीक्षण किया. जो धूल मिट्टी से सने हुए थे. एसडीएम ने कर्मचारी आवास में भी कर्मचारीयों को रहने के आदेश दिए.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->