कांग्रेस प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव का देहरादून में ज़ोरदार स्वागत... इंदिरा हृदयेश बोलीं- प्रदेश कांग्रेस से वाकिफ़ हैं

देवेंद्र यादव ने कहा कि जो काम करेगा, उसे सम्मान मिलेगा और जो काम नहीं करेगा, उसके लिए दूसरे रास्ते खुले हैं.
देवेंद्र यादव ने कहा कि जो काम करेगा, उसे सम्मान मिलेगा और जो काम नहीं करेगा, उसके लिए दूसरे रास्ते खुले हैं.

देवेंद्र यादव ने कहा कि जो काम करेगा, उसे सम्मान मिलेगा और जो काम नहीं करेगा, उसके लिए दूसरे रास्ते खुले हैं.

  • Share this:
देहरादून. कांग्रेस के नए प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव का देहरादून पहुंचने पर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने ज़ोरदार स्वागत किया. एयरपोर्ट से लेकर कांग्रेस ऑफिस तक कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ नज़र आई. युवा प्रभारी को देखकर सभी नेता जोश में दिखे. कांग्रेस के उत्तराखंड प्रभारी देवेंद्र यादव 29 अक्टूबर तक कांग्रेस के टॉप लेवल से लेकर ब्लॉक लेवल तक नेताओं के साथ 15 मीटिंग करेंगे. शुरुआती मीटिंग प्रदेश अध्य्क्ष प्रीतम सिंह, पूर्व सीएम हरीश रावत, नेता विपक्ष इंदिरा ह्रदयेश और सह प्रभारी राजेश धर्माणी के साथ हुईं और फिर अलग-अलग बैठकों का दौर शुरू हुआ.

सभी को उम्मीद

नए प्रदेश प्रभारी के आने से चारों बड़े कांग्रेस नेताओं को 2022 के लिए बड़ी उम्मीदें हैं. नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने कहा कि 3 दिन में नए प्रभारी पूरे प्रदेश से बात करेंगे और तीनों बड़े नेताओं से बात की शुरआत करके उन्होंने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि वह प्रदेश कांगेस से वाकिफ़ हैं.



पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि नए प्रभारी युवा लेकिन अनुभवी हैं. और उनके मार्गनिर्देशन में कांग्रेस 2022 में जीत हासिल करेगी. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश प्रभारी शीर्ष नेतृत्व से लेकर ब्लॉक लेवल तक के नेताओं से बात करेगें. उन्होंने माना कि 2022 का चुनाव पार्टी के लिए चुनौती है.
लेकिन पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के 2022 चुनावों के लेकर मत मौजूदा अध्यक्ष से थोड़े अलग हैं. वह कहते हैं कि 2022 में उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड में चुनाव होना है. पार्टी की जीत की सबसे ज़्यादा संभावनाएं उत्तराखंड में हैं.

कार्यकर्ताओं को संदेश 

कांग्रेस के नए प्रदेश प्रभारी ने अपने पहले दौरे में प्रदेश के कार्यकर्ताओं को साफ और कड़ा संदेश दिया. उन्होंने कहा कि जो काम करेगा, उसे सम्मान मिलेगा और जो काम नहीं करेगा, उसके लिए दूसरे रास्ते खुले हैं.

कांग्रेस की चुनावी संभावनाओं पर देवेंद्र यादव ने कहा कि राज्य में बीजेपी सरकार 4 साल से है और वह पूरी तरह नाकाम साबित हुई है. लेकिन पार्टी के सामने चुनौती यह है कि आप और बीएसपी वहां वोट काटती हैं जहां कांग्रेस मज़बूत है. उन्होंने कहा कि वह 3 दिन कांग्रेस परिवार के साथ बैठकर सबकी सुनेंगे और शिकायत दूर करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज