दून वासियों को जाम से नहीं मिल रही निजात, स्मार्ट सिटी बनने तक करना होगा इंतजार

बिगड़ती यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए अलग से ट्रैफिक निदेशालय का भी गठन किया गया. बावजूद इसके दून वासियों को जाम से निजात नहीं मिल सकी है. वहीं अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के जरिए शहर की ट्रैफिक व्यवस्थाएं सुधारने की बात की जा रही है.

Avnish Pal | News18 Uttarakhand
Updated: April 20, 2019, 3:36 PM IST
दून वासियों को जाम से नहीं मिल रही निजात, स्मार्ट सिटी बनने तक करना होगा इंतजार
देहरादून - ट्रैफिक जाम से निजात नहीं मिली
Avnish Pal | News18 Uttarakhand
Updated: April 20, 2019, 3:36 PM IST
राजधानी देहरादून की सड़कों पर 10 लाख से ज्यादा गाड़ियां दौड़ती हैं. 8 लाख से ज्यादा वाहन देहरादून आरटीओ में रजिस्टर्ड हैं और हर दिन गाड़ियों की संख्या में बढ़ोत्तरी ही हो रही है. लेकिन बढ़ती जनसंख्या और गाड़ियों की संख्या के मुताबिक दून की सड़कों का चौड़ीकरण नहीं हो सका है. यही वजह भी है कि ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए सालों से हो रहे पुलिस के प्रयास हर कदम पर फेल हो जा रहे हैं. बिगड़ती यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए अलग से ट्रैफिक निदेशालय का भी गठन किया गया. बावजूद इसके दून वासियों को जाम से निजात नहीं मिल सकी है.

वहीं अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के जरिए शहर की ट्रैफिक व्यवस्थाएं सुधारने की बात की जा रही है. मगर स्मार्ट सिटी के तहत काम कब शुरू होगा इस बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता. यानी ट्रैफिक की वर्तमान में जो समस्याएं हैं वो स्मार्ट सिटी बनने तक ऐसी ही रहेंगी.

दरअसल शहर के अलग अलग चौराहों पर जाम लगने के कारणों का पता चलने पर जब ट्रैफिक पुलिस ने संबंधित विभागों को पत्र भेजे तो जवाब में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत कार्य किए जाने की बात कही गई है. बता दें कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की अभी नींव तक नहीं रखी जा सकी है. ऐसे में कहना पड़ेगा कि दून वासियों को जाम से फिलहाल राहत नहीं मिलने वाली है.

देहरादून में ट्रैफिक एसपी प्रकाश चंद्र ने कहा कि इस विषय को लेकर कई बार पत्राचार किया जा चुका है. जवाब में संबंधित विभाग द्वारा अवगत कराया गया है कि स्मार्ट सिटी के अंतर्गत ये सारी योजनाएं बनाई गई हैं. इन योजनाओं पर शीघ्र ही काम होने वाला है. स्मार्ट सिटी के तहत रोड चौड़ीकरण, चौराहों का चौड़ीकरण और स्मार्ट सिग्नल वगैरह लगाए जाने हैं. उन्होंने कहा कि यदि स्मार्ट सिटी के तहत ये सारे काम होंगे तब नि:संदेह इसका फायदा होगा.

ये भी पढ़ें - जानिए क्यों, स्कूल जाने वाले बच्चों के अभिभावकों ने की ट्रैफिक डायवर्ट करने की मांग

ये भी देखें - VIDEO: विधानसभा सत्र के मद्देनजर रूट डायवर्ट करने से जनता की परेशानी बढ़ी

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 20, 2019, 3:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...