अब घर ही बन सकेगा आइसोलेशन वॉर्ड... IIP देहरादून बना रहा है हवा से ऑक्सीजन
Dehradun News in Hindi

अब घर ही बन सकेगा आइसोलेशन वॉर्ड... IIP देहरादून बना रहा है हवा से ऑक्सीजन
. आईआईपी ऐसे ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार कर रहा है जिन्हें घरों में ही इंस्टॉल कर उन्हें आइसोलेशन वॉर्ड बनायाजा सकेगा.

अभी तक जो सिलेण्डर बाजारों में मिलते हैं यहां से मिलने वाले सिलेंडर उनसे सस्ते दामों पर आसानी से उपलब्ध होंगे.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना वायस से पैदा होने वाली महामारी से लड़ने के लिए आइसोलेशन वार्ड एक सबसे बड़ी ज़रूरत है ताकि यह कम से कम लोगों में फैले और जिस तरह यह बीमारी दुनिया भर में फैल रही है उससे आइसोलेशन वॉर्ड्स की राज्य में ही नही देश में भी कमी है. इंडियन इंस्टीयूट ऑफ पेट्रोलियम ने इस विकराल समस्या के हल के लिए कारगर समाधान ढूंढा है. आईआईपी ऐसे ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार कर रहा है जिन्हें घरों में ही इंस्टॉल कर उन्हें आइसोलेशन वॉर्ड बनायाजा सकेगा. किफ़ायती दामो पर मिलने वाले इन सिलेंडरों से लोगों को अस्पताओं पर आश्रित नहीं रहना पड़ेगा और इससे स्वास्थ्य व्यवस्था पर दबाव कम होगा.

आसान नहीं यह काम

आईआईपी देश मे पहली बार अब नॉर्मल हवा से मेडिकल ऑक्सीजन का निर्माण करने जा रहा है जो आम जनता को सस्ती मिलेगी. आईआईपी के वैज्ञानिकों ने एक ऐसी मशीन बनाई है जो सामान्य हवा से कार्बनडाइऑक्साइड और नाइट्रोजन गैस निकाल कर केवल सिर्फ़ ऑक्सीजन तैयार करेगी.



आईआईपी की वैज्ञानिक डॉक्टर आरती कहती हैं कि वैसे तो नॉर्मल हवा से नाइट्रोजन अलग करना टेढ़ी खीर है लेकिन आईआईपी के पुणे स्थित लैब में नॉर्मल हवा से 40 फीसदी ऑक्सीजन को तक निकाल ली जाएगी. मेडिकली यूज़ होने के लिए इसमें 90 फ़ीसदी तक ऑक्सीजन होनी अनिवार्य है. देहरादून उनके द्वारा बनाए गए उपकरण से हवा से नाइट्रोजन ओर कार्बनडाई आक्साइड अलग करके 90 फीसदी तक ऑक्सीजन निकाली जा सकती है जिसे मेडिकल पर्पज़ से इस्तेमाल किया जा सकता है.



सस्ती और आसानी से उपलब्ध 

आईआईपी द्वारा तैयार की गई ऑक्सीजन आम जनता को भी आराम से उपलब्ध होगी. आईआईपी डायरेक्टर अंजन रॉय का कहना है कि अभी तक कोरोना के लिए लोगों को आइसोलेशन के लिए अस्पतालों का ही रुख करना पड़ रहा है. लेकिन महामारी में अगर संक्रमित लोगों की तादाद बढ़ती है तो इन ऑक्सीजन सिलेण्डरों से घरों में भी आइसोलेशन वॉर्ड तैयार किए जा सकते हैं.

अंजय रॉय कहते हैं कि आईआईपी में ऑक्सीजन प्लांट 24 घण्टे चलेगा जिससे मेडिसिनल ऑक्सीजन की किसी भी प्रकार कमी नहीं होगी. अभी तक जो सिलेण्डर बाजारों में मिलते हैं यहां से मिलने वाले सिलेंडर उनसे सस्ते दामों पर आसानी से उपलब्ध होंगे.

कोरोना महामारी में आईआईपी द्वारा किये गए इस अविष्कार से राज्य ही नहीं देश में भी आइसोलेशन वॉर्ड की कमी काफ़ी हद तक दूर हो सकती है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading