पर्यटन स्थल मसूरी में हर साल बढ़ रही सैलानियों की संख्या

पिछले वर्ष 2018 में जनवरी से लेकर मई तक की तुलना में इस वर्ष 2019 में इसी अवधि में कम-से-कम 60 हजार अधिक सैलानी मसूरी घूमने आए.

Sunil Silwal | News18 Uttarakhand
Updated: June 13, 2019, 7:43 PM IST
पर्यटन स्थल मसूरी में हर साल बढ़ रही सैलानियों की संख्या
मसूरी घूमने आ रहे पर्यटकों को नहीं मिल रही बुनियादी सुविधाएं.
Sunil Silwal
Sunil Silwal | News18 Uttarakhand
Updated: June 13, 2019, 7:43 PM IST
मसूरी में साल दर साल पर्यटकों की संख्या में बढोत्तरी हो रही है. लेकिन बुनियादी सुविधाओं को बढ़ाने के लिए कोई ठोस पहल आज तक नहीं की गई है. इस वजह से पर्यटन सीजन में शहर में पानी, पार्किंग सहित कई समस्याओं से सैलानियों को जूझना पड़ता है. बता दें कि मसूरी शहर में 2018 की तुलना में इस साल अधिक सैलानी घूमने आए हैं. लेकिन शहर की पार्किंग की समस्या से सैलानी जूझते नजर आ रहे हैं. इतना ही नहीं पार्किंग में सैलानियों से उनकी गाड़ियों का मनमाना किराया भी लिया जा रहा है. साथ ही कोई रसीद भी नहीं दी जा रही है. इस अव्यवस्था से यहां आने वाले सैलानियों को काफी परेशानी हो रही है.

पिछले वर्ष की तुलना में 60 हजार से अधिक सैलानी आए


पिछले वर्ष 2018 में जनवरी से लेकर मई तक की तुलना में इस वर्ष 2019 में इसी अवधि में कम-से-कम 60 हजार अधिक सैलानी मसूरी घूमने आए. 2018 में जनवरी से लेकर मई तक 8 लाख 88 हजार 958 सैलानी मसूरी पहुंचे थे. वहीं जनवरी से लेकर मई 2019 में 9 लाख 49 हजार 11 सैलानी यहां आए. यानि पिछले वर्ष जनवरी से मई के दौरान आए सैलानियों की तुलना में इस वर्ष इसी अवधि में 60 हजार से अधिक सैलानी मसूरी घूमने आए. लेकिन सैलानियों को पानी और पार्किंग जैसी बुनियादी सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं करवा पाना दुर्भाग्यपूर्ण है.

पर्यटकों को नहीं मिल रही बुनियादी सुविधाएं

पर्यटन व्यवसायी भरत सिंह चौहान का कहना है कि मसूरी घूमने के लिए काफी संख्या में पर्यटक आ रहे हैं. लेकिन उन्हें बुनियादी सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं कराई जा रही है. पर्यटक सड़क जाम में दो-दो घंटे फंस जा रहे हैं. इससे परेशान होकर वे लौट जाने की बात भी करने लगते हैं. वहीं एक दूसरे पर्यटन व्यवसायी जगजीत सिंह का कहना है कि साल-दर-साल मसूरी में पर्यटकों की संख्या बढ़ते जा रही है. लेकिन पर्यटकों को मूलभूत सुविधाएं जैसे- जल, सड़क और पार्किंग दिए जाने की तरफ सरकार का ध्यान बिल्कुल नहीं है. उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि पर्यटकों को बुनियादी सुविधाएं दी जाए ताकि वे यहां से एक अच्छा संदेश लेकर जाएं और बार-बार मसूरी घूमने आएं.

पार्किंग व पानी की समस्या से जूझते सैलानी
वहीं मसूरी में सहायक पर्यटन अधिकारी भगवती प्रसाद टम्टा ने बस इतना ही कहा कि पिछले साल की तुलना में इस साल काफी संख्या में सैलानी मसूरी घूमने आए हैं. लेकिन यहां पर्यटकों को हो रही
Loading...

समस्याओं को लेकर विभाग कोई बात करने को तैयार नहीं है. साल-दर-साल मसूरी में पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है. लेकिन शहर में प्रवेश करते ही उन्हें ट्रैफिक जाम, पानी की समस्याओं से जूझना पड़ता है. शहर में लंबे समय से पार्किंग और पानी की समस्या को दूर करने की मांग की जा रही है. लेकिन इस दिशा में अभी तक कोई ठोस प्रयास नहीं किए गए हैं.

ये भी पढ़ें - जल शक्ति मंत्री का दावा... दो साल में हो जाएगी गंगा साफ़

ये भी देखें - हेमकुंड साहिब में ग्लेशियर बने तीर्थयात्रियों के लिए खतरा

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...