OMG: गाड़ी से उतरकर पानी पी रहे थे यात्री, तभी टाटा सूमो पर आ गिरा चट्टान, फिर...
Dehradun News in Hindi

OMG: गाड़ी से उतरकर पानी पी रहे थे यात्री, तभी टाटा सूमो पर आ गिरा चट्टान, फिर...
मौसम विभाग ने अभी 13 जुलाई तक बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है.

यमुनोत्री हाइवे (Yamunotri Highway) पिछले 24 घंटे से अधिक समय से बंद पड़ा हुआ है. यमुनोत्री हाइवे पर राणाचट्टी में मलवा की वजह से रविवार सुबह मार्ग बंद हो गया था.

  • Share this:
देहरादून. मानसून की शुरुआत के साथ ही पहाड़ से नुकसान की खबरें भी आने लगी हैं. सोमवार सुबह ऋषिकेश बदरीनाथ हाइवे (Rishikesh Badrinath Highway) पर कौड़ियाला और व्यासी के बीच चट्टान गिरने से बड़ा हादसा होते-होते टल गया. ऋषिकेश से सवारियों को लेकर देवप्रयाग की ओर जा रही एक टाटा सूमो (Tata sumo) कार चट्टान की चपेट में आ गई. गनीमत रही कि इस दौरान कार सवार सभी यात्री प्राकृतिक स्रोत से पानी पीने को बाहर उतरे हुए थे. चट्टान (Rock) टूटते ही यात्रियों ने भागकर जान बचाई. दुर्घटना में टाटा सूमो कार चकनाचूर हो गई. हादसे के बाद मौके पर घंटों तक सड़क के दोनों ओर लंबा जाम लगा रहा. बाद में मौके पर पहुंची जेसीबी (JCB) की मदद से मलबा हटाकर मार्ग खोला जा सका.

इधर यमुनोत्री हाइवे भी पिछले 24 घंटे से अधिक समय से बंद पड़ा हुआ है. यमुनोत्री हाइवे पर राणाचट्टी में मलवा आने से रविवार सुबह मार्ग ध्वस्त हो गया था, जिसे अभी बहाल नहीं किया जा सका है. उत्तराखंड में हर साल मानसून आफत बनकर टूटता है. मानसून की शुरुआती बारिश में ही पूरे स्टेट में 115 मोटर मार्ग बंद हो गए हैं, तो दूसरी ओर 10 स्टेट हाइवे भी मलबा आने और लैंडस्लाइड के चलते बाधित हो गए हैं.

एक्सीडेंट के बाद हाइवे पर लगा लंबा जाम.




13 जुलाई तक बारिश का पूर्वानुमान
मौसम विभाग ने अभी 13 जुलाई तक बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है. मौसम विभाग के अनुसार 9 से 12 जुलाई तक बारिश और तेज हो सकती है. खासकर गढ़वाल रीजन में इस दौरान हैवी रेन देखने को मिल सकती है. उत्तराखंड में लोक निर्माण विभाग ने मानसून काल के मद्देनजर करीब साढ़े सात सौ मोटर मार्गों को संवेदनशील घोषित किया है. यह वह मोटर मार्ग हैं जो बरसात में अक्सर भूस्खलन के कारण बंद हो जाते हैं.

कोसी के तेज बहाव में तीन महिलाएं बह गई थीं

बता दें कि शनिवार को नैनीताल (Nainital) में कोसी (Kosi) के तेज बहाव में तीन महिलाएं बह गई थीं. सूचना है कि घास काटने जा रही ये महिलाएं नदी को पार करने की कोशिश कर रही थीं. इसी दौरान वे एक के बाद एक नदी के तेज बहाव (Fast flow) की जद में आ गईं. एसडीआरएफ और स्थानीय ग्रामीण इनकी खोजबीन में जुटे हुए थे. लोक निर्माण विभाग भी एलर्ट मोड पर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading