अपना शहर चुनें

States

Opinion : दुर्गम क्षेत्रों के विकास में कारगर भूमिका निभा रहा सोशल मीडिया

अनिल बलूनी को उनके काम के लिए सोशल मीडिया पर शुक्रिया कहा गया साथ ही कुछ काम की लिस्ट भी बताई गई जिसे किए जाने की जरूरत है.
अनिल बलूनी को उनके काम के लिए सोशल मीडिया पर शुक्रिया कहा गया साथ ही कुछ काम की लिस्ट भी बताई गई जिसे किए जाने की जरूरत है.

सोशल मीडिया में एक व्यक्ति का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें उसने बलूनी को उनके काम के लिए उसने धन्यवाद दिया है. साथ ही कुछ कामों की सूची भी दी है जिसे किए जाने की उसने जरूरत बताई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 7:51 PM IST
  • Share this:
देहरादून. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के डिजिटल इंडिया (Digital India) अभियान का असर अब गांव-गांव तक पहुंचने लगा है. दुर्गम और पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लोग भी जनप्रतिनिधियों को उनके कामकाज की फीडबैक देने लगे हैं. दरअसल, उत्तराखंड के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी (Anil Baluni) भी सोशल मीडिया (Social media) का इस्तेमाल कर लोगों की दिक्कतों से रूबरू हो उसे दूर करने की कोशिश करते हैं. इसी क्रम में एक रोचक मामला सामने आया है, जिसमें उत्तराखंड (Uttrakhand) के बागेश्वर के रहने वाले एक शख्स ने सांसद बलूनी को उनके कामों के लिए अपनी दो टूक और स्पष्ट राय दी है.

सोशल मीडिया में इस व्यक्ति का वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में बलूनी को उनके काम के लिए उसने धन्यवाद दिया है. साथ ही कुछ कामों की सूची भी दी है जिसे किए जाने की उसने जरूरत बताई है. मतलब साफ है सोशल मीडिया के जरिए बलूनी तक जमीन का संदेश पहुंच गया. जनता की फीडबैक का यह तरीका जनप्रतिनिधियों के लिए बहुत कारगर हो सकता है.

सोशल मीडिया में जो वीडियो वायरल हो रहा है उससे साफ है कि इस शख्स की कभी भी बलूनी से मुलाकात नहीं हुई, लेकिन ट्रेन कनेक्टिविटी बेहतर होने से उसे जो खुशी हुई है वह चेहरे पर साफ दिख रही है. इस व्यक्ति ने विकास के दिखावे पर तंज कसते हुए कहा कि कम से कम बलूनी पहले ही दो टूक कह चुके हैं कि वे ठोस और जरूरी विकास में यकीन करते हैं, मिट्टी और गिट्टी गिराकर विकास दिखाने पर नहीं.



कहा जा सकता है कि उत्तराखंड की जनता के लिए नई रेल शुरू कराने से लेकर सेना के अस्पतालों में उत्तराखंड के लोगों की चिकित्सा व्यवस्था शुरू कराने तक की अनिल बलूनी की कोशिशों का नतीजा यह हुआ है कि शहरों और दूर दराज के गांवों में रहने वाले लोग सांसद के तौर पर उनके किए गए कामों की तारीफ करते हैं. उत्तराखंड के लिए 2 जनशताब्दी ट्रेन समेत दूसरी ट्रेनों की मंजूरी मिलने पर विपक्ष के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी इन प्रयासों की सराहना की.
सोशल मीडिया के जरिए लोगों से सीधे जुड़ने का तरीका बहुत कारगर है. बीजेपी के मुख्य प्रवक्ता बलूनी उत्तराखंड के दूर-दराज गांव तक पहुंचने के लिए सोशल मीडिया का सहारा रहे हैं. उनके मुताबिक इसके जरिए वे उत्तराखंड के लोगों की दिक्कतों से वाकिफ होते रहते हैं और केंद्र सरकार से योजनाओं को मंजूरी दिलाने में जुटे रहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज