Home /News /uttarakhand /

orange alert for uttarakhand weather on char dham yatra beginning day landslide fear on

Weather Alert : चार धाम यात्रा के आगाज पर बारिश, तूफान का ऑरेंज अलर्ट, लैंडस्लाइड का खतरा बढ़ा!

उत्तराखंड के उन ज़िलों का मौसम जानिए, जहां चार धाम स्थित हैं.

उत्तराखंड के उन ज़िलों का मौसम जानिए, जहां चार धाम स्थित हैं.

Uttarakhand Weather : 3 मई के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. चेतावनी है कि 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाओं के साथ बारिश हो सकती है. कहीं कहीं तो हवाओं की गति 60 किमी प्रतिघंटे भी हो सकती है. ऐसे में चार धाम यात्रा को लेकर तैयारियों की बड़ी परीक्षा है.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड के लिए 3 मई को चुनौती भरा दिन है क्योंकि अक्षय तृतीया के मौके पर चार धाम यात्रा शुरू हो रही है, लेकिन मौसम के तेवर खतरनाक नज़र आ रहे हैं. मौसम विभाग के अनुमान के हिसाब से अगर मंगलवार को अंधड़, तूफान और बारिश की स्थिति बन गई, तो चार धाम यात्रा प्रभावित हो सकती है. उत्तरकाशी ज़िले में तो सड़कों व हाईवे पर बने स्लाइडिंग ज़ोन के बारे में पहले ही आगाह किया जा चुका है, हालांकि यहां मंगलवार सुबह मौसम ठीक है जबकि बागेश्वर में मौसम करवट ले चुका है.

खबरों की मानें तो 3 और 4 मई के लिए मौसम विभाग का अनुमान है कि मैदान से पहाड़ तक उत्तराखंड भीग सकता है. पश्चिमी विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी से चल रही नम हवाओं के कारण बारिश के आसार बन रहे हैं. उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली यानी चार धाम वाले ज़िलों समेत बागेश्वर और पिथौरागढ़ में तेज़ हवाओं के साथ बारिश हो सकती है. बागेश्वर में तो मंगलवार सुबह से ही मौसम ने करवट ले ली है और ऊपरी हिस्सों में तो छिटपुट बारिश शुरू भी हो चुकी है.

बागेश्वर संवाददाता सुष्मिता थापा ने रिपोर्ट किया कि सुबह से ही आसमान में घने बादल छाये रहे और ज़िले में बारिश के आसार भी बन रहे हैं. वहीं, उच्च हिमालयी क्षेत्र में बूंदाबांदी के साथ बारिश शुरू हो चुकी है. इधर इन दिनों लगातार बदलते मौसम के कारण वायरल फीवर का प्रकोप बढ़ रहा है. ज़िला अस्पताल में जांच कराने वालों की संख्या 500 के पार पहुंच गई है, जबकि सामान्य दिनों में यह संख्या 200 से 250 तक रहती है.

उत्तरकाशी में क्यों हैं चुनौती जैसे हालात?
3 मई को गंगोत्री व यमुनोत्री के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा का औपचारिक आगाज़ हो जाएगा. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी इस मौके पर धाम पहुंचने वाले हैं. इधर, मौसम विभाग की भविष्यवाणी के मुताबिक बारिश होती है, तो ​गंगोत्री यमुनोत्री हाईवे पर भूस्खलन के लिहाज़ से संवेदनशील ज़ोन पर तैयारियों की परीक्षा हो सकती है. प्रशासन ने सभी तैयारियां कर लेने का दावा तो किया है, लेकिन अंदेशा है कि लैंडस्लाइड होने से यात्रियों को दिक्कत होगी.

ये भी पढ़ें : Char Dham Yatra 2022: बद्रीनाथ तक 500km रूट हो रहा खुशहाल, तो गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे खस्ताहाल

उत्तरकाशी संवाददाता बलबीर परमार ने बताया कि मौसम विभाग के अनुमान के उलट अक्षय तृतीया पर सुबह से ही ज़िले में मौसम साफ है. हालांकि दुर्घटना आशंकित डेंजर ज़ोन में गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11 और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर 14 स्थान चिह्नित है. इस बार चूंकि चार धाम यात्रियों की भीड़ उमड़ने के क़यास हैं इसलिए डेंजर ज़ोन बड़ी चुनौती दिख रहे हैं. नवनियुक्त डीएम अभिषेक रुहेला ने हाल में अधिकारियों को ज़रूरी निर्देश दिए थे. इन लैंडस्लाइड ज़ोन को जानिए, ​जहां मौसम का कहर टूटने से खतरे की आशंका बढ़ सकती है :

गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग: सुक्की टॉप, डबराणी, डीएम स्लाइड, नागदेवता मंदिर, थिरांग, शिवानंद आश्रम, गणेशपुर, सुनगर, बडे़थी चुंगी व नालूपानी.
यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग: धरासू बैंड, ब्रह्मखाल, सिलक्यारा बैंड, दोबाटा, पुजार गांव, सिलाई बैंड, डाबरकोट, ओजरी, स्यानाचट्टी, झझरगाड, हनुमानचट्टी, जंगल चट्टी व असनौलगाड.

सिर्फ उत्तरकाशी ही नहीं, पिछले दिनों टिहरी से लेकर बद्रीनाथ हाईवे तक भूस्खलन और पहाड़ टूटने जैसी घटनाएं हो चुकी हैं. इन हालात में चार धाम यात्रा को लेकर प्रशासन, आपदा प्रबंधन विभाग और पर्यटन विभाग की तैयारियों का कड़ा इम्तिहान हो सकता है. मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह के हवाले से खबरें कह रही हैं कि 3 व 4 मई को पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव की वजह से बारिश होने पर तापमान 3 डिग्री तक गिर सकता है.

Tags: Char Dham Yatra, Uttarakhand news, Weather news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर