लाइव टीवी

पंचायत चुनावः अब ख़रीद-फ़रोख्त की आशंका... कांग्रेस-बीजेपी दोनों ने कहा समान मानसिकता वालों का स्वागत

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: October 22, 2019, 5:23 PM IST
पंचायत चुनावः अब ख़रीद-फ़रोख्त की आशंका... कांग्रेस-बीजेपी दोनों ने कहा समान मानसिकता वालों का स्वागत
प्रीतम सिंह ने यह दावा किया कि नतीजे कांग्रेस के पक्ष में आए हैं और इन चुनाव परिणामों ने बता दिया है कि जनता बीजेपी सरकार से ख़ुश नहीं है.

निर्दलियों (Independents) के बड़ी संख्या में चुनाव जीतने की वजह से कांग्रेस (Congress) को चुनाव में ख़रीद फ़रोख़्त (Horse Trading) का डर सताने लगा है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के नतीजे करीब-करीब घोषित हो गए हैं. इसके साथ ही ज़िला पंचायत चुनावों के लिए ख़रीद-फ़रोख़्त की बात भी उछलने लगी है. पंचायत चुनावों में निर्दलीय बड़ी संख्या में जीते हैं इसलिए भी यह बात उठ रही है कि बीजेपी और कांग्रेस ज़िला पंचायत पर कब्ज़ा करने के लिए इन्हें प्रभावित करने की कोशिश करेंगे. ख़ास बात यह भी है कि नैनीताल हाईकोर्ट पहले ही एक जनहित याचिका में निर्देश दे चुका है कि राज्य निर्वाचन आयोग ख़रीद फ़रोख़्त न होने दे.

बड़ी संख्या में जीते निर्दलीय 

बता दें कि पंचायत चुनाव की मतगणना यह ख़बर लिखे जाने तक जारी है. हालांकि तस्वीर लगभग साफ़ हो गई है. अब तक मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी को 116 सीटें मिली हैं तो 109 सीटों के पर निर्दलीय जीते हैं. कांग्रेस 80 सीटें जीतने में कामयाब रही है.

निर्दलियों के बड़ी संख्या में चुनाव जीतने की वजह से कांग्रेस को चुनाव में ख़रीद फ़रोख़्त का डर सताने लगा है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि ज़िला पंचायत अध्यक्ष बनाने के लिए बीजेपी हॉर्स ट्रेडिंग कर सकती है.

अपनी-अपनी व्याख्या 

हालांकि प्रीतम सिंह ने यह दावा किया कि नतीजे कांग्रेस के पक्ष में आए हैं और इन चुनाव परिणामों ने बता दिया है कि जनता बीजेपी सरकार से ख़ुश नहीं है. उत्तराखंड के लोगों ने राज्य और केंद्र सरकार को नकार दिया है.

हालांकि बीजेपी को नहीं लगता कि चुनाव के नतीजे उसके ख़िलाफ़ आए हैं. पार्टी प्रवक्ता शादाब शम्स कहते हैं सबसे ज़्यादा सीटें बीजेपी समर्थित प्रत्याशियों ने जीती हैं और यह साबित करता है कि बीजेपी की लहर चल रही है.
Loading...

स्वागत दोनों जगह

कांग्रेस के हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप को शादाब शम्स खारिज करते हैं. वह कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी की नीतियों से प्रभावित होकर जो साथ आएगा, उसका स्वागत होगा.

कमाल की बात यह है कि हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाने वाली कांग्रेस भी यही कह रही है. प्रीतम सिंह भी कह रहे हैं कि कांग्रेस की विचारधारा के लोगों का वह स्वागत करेंगे.

ये भी देखें: 

2 से ज़्यादा बच्चों वाले नहीं लड़ सकेंगे क्षेत्र-ज़िला पंचायत सदस्य के चुनावः राज्य निर्वाचन आयोग 

ज़िला पंजायत चुनाव के लिए सदस्यों का अपहरण न होः हाईकोर्ट 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 4:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...