पंचायती राज संशोधन विधेयकः संशोधन के बाद कानून में होंगी ये नई बातें

राज्य में अब तक हुए पंचायत चुनाव में शिक्षा संबंधी भी कोई पाबंदी नहीं थी लेकिन अब पंचायत चुनाव लड़ने के लिए न्यूनमत शैक्षिक योग्यता एजुकेशन अनिवार्य हो गई है.

News18 Uttarakhand
Updated: June 27, 2019, 3:11 PM IST
पंचायती राज संशोधन विधेयकः संशोधन के बाद कानून में होंगी ये नई बातें
सितंबर में होने वाले पंचायत चुनाव नए बनने वाले कानून के प्रावधानों के अनुरूप ही होंगे. (प्रतीकात्मक फ़ोटो)
News18 Uttarakhand
Updated: June 27, 2019, 3:11 PM IST
जुलाई-अगस्त में हरिद्वार को छोड़कर बाकी 12 ज़िलों में पंचायतों का कार्यकाल ख़त्म हो रहा है. इस बार पंचायत चुनाव नए कानून के अनुसार होंगे, जिसका विधेयक बुधवार को विधानसभा ने पारित किया है. पंचायती राज संशोधन विधेयक के पास होने के बाद तस्वीर अब पूरी तरीके से बदल जाएगी. एक नज़र इस विधेयक की ख़ास बातों पर...

दो बच्चों की पाबंदी

पंचायती राज संशोधन बिल पास करके उत्तराखण्ड ऐसा छठा राज्य बन गया है जहां दो से ज़्यादा बच्चों वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ सकते. इसस पहले हरियाणा, राजस्थान, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा में ऐसा प्रावधान था. विधेयक के प्रावधान के अनुसार अब प्रदेश में भी दो से ज्यादा बच्चों वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ पाएंगे. संशोधन विधेयक में 300 दिन के ग्रेस पीरियड की उस व्यवस्था को भी खत्म कर दिया है जिसका प्रावधान विधेयक के ड्राफ़्ट में था.

शैक्षिक योग्यता

राज्य में अब तक हुए पंचायत चुनाव में शिक्षा संबंधी भी कोई पाबंदी नहीं थी लेकिन अब पंचायत चुनाव लड़ने के लिए न्यूनमत शैक्षिक योग्यता एजुकेशन अनिवार्य हो गई है. अब किसी भी पद के लिए सामान्य वर्ग के प्रत्याशी का हाईस्कूल पास होना ज़रुरी है जबकि सामान्य महिला और अनुसूचित जाति जनजाति के प्रत्याशियों के लिए 8वीं पास होना अनिवार्य किया गया है.

इसके अलावा पंचायत चुनाव से जुड़ी एक और जानकारी है. सितम्बर में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी में जुटे राज्य निर्वाचन आयोग ने खर्च की सीमा को दोगुना कर दिया है. नामांकन पत्रों के शुल्क के साथ जमानत राशि तक में बढ़ोत्तरी कर दी गई है.

(देहरादून से सबिहा परवीन की रिपोर्ट)
Loading...

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 27, 2019, 3:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...