Home /News /uttarakhand /

कैबिनेट बैठक के दौरान देवस्‍थानम एक्ट को लेकर हो सकता है बवाल, जानें क्या है पंडा पुरोहितों की रणनीति

कैबिनेट बैठक के दौरान देवस्‍थानम एक्ट को लेकर हो सकता है बवाल, जानें क्या है पंडा पुरोहितों की रणनीति

चारधाम हक हकूकधारी पंडा पुरोहित 27 नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाएंगे.

चारधाम हक हकूकधारी पंडा पुरोहित 27 नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाएंगे.

Chardham Panda Purohit Protest Against Devasthanam Act: चारधाम हक हकूकधारी पंडा पुरोहित 27 नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाएंगे. 27 नवंबर ही वह तारीख थी, जिस दिन दो साल पहले गंगोत्री, यमनोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ समेत 51 मंदिरों को देवस्थानम एक्ट के दायरे में ला दिया गया था. सोमवार को देहरादून में हुई चारधाम हक हकूकधारी तीर्थ पुरोहितों की मीटिंग में तय किया गया कि इस दिन गांधी पार्क से सचिवालय तक जुलूस प्रदर्शन किया जाएगा. मंदिर समिति के संयोजक सुरेश सेमवाल का कहना है कि उनको उम्मीद है कि मंगलवार की कैबिनेट में सरकार एक्ट को रद्द करने का प्रस्ताव जरूर लाएगी.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. चारधाम हक हकूकधारी पंडा पुरोहित (Chardham Haq Hakukdhari Panda Purohit) 27 नवंबर को काला दिवस (Black Day) के रूप में मनाएंगे. 27 नवंबर ही वह तारीख थी, जिस दिन दो साल पहले गंगोत्री, यमनोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ समेत 51 मंदिरों को देवस्थानम एक्ट के दायरे में ला दिया गया था. देवस्थानम एक्ट को लागू हुए 27 नवंबर को दो साल पूरे हो जाएंगे.

एक्ट लागू होने के साथ ही पिछले दो साल से विरोध प्रदर्शन करते आ रहे तीर्थ पुरोहितों ने इस बार 27 नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है. सोमवार को देहरादून में हुई चारधाम हक हकूकधारी तीर्थ पुरोहितों की मीटिंग में तय किया गया कि इस दिन गांधी पार्क से सचिवालय तक जुलूस प्रदर्शन किया जाएगा.

हक हकूकधारी महापंचायत के प्रवक्ता बृजेश सती ने बताया कि इसके साथ ही मंगलवार को देहरादून में मंत्रियों के आवास पर भी तीर्थ पुरोहित प्रदर्शन कर एक्ट को खत्म करने की मांग करेंगे. मंगलवार को पुष्कर धामी सरकार की कैबिनेट मीटिंग भी है. हक हकूकधारी महापंचायत के संयोजक एवं गंगोत्री मंदिर समिति के संयोजक सुरेश सेमवाल का कहना है कि उनको उम्मीद है कि मंगलवार की कैबिनेट में सरकार एक्ट को रद्द करने का प्रस्ताव जरूर लाएगी.

दिसंबर सेकंड वीक की शुरुआत में उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सेशन भी शुरू होना है. इससे ठीक पहले सरकार पर दबाव बनाने के लिए तीर्थ पुरोहित 27 नवंबर को जूलूस प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं. पंडा पुरोहित, बद्रीनाथ धाम समिति के अध्यक्ष प्रवीन ध्यानी का कहना है कि तीर्थ पुरोहितों को देवस्थानम एक्ट खत्म करने से कम कुछ भी मंजूर नहीं है. उन्होंने कहा कि यदि सरकार नहीं मानी तो चारोंधामों के शीतकालीन प्रवास स्थल पर ही तीर्थ पुरोहित धरना- प्रदर्शन करेंगे.

हालांकि, पिछले दिनों केदारनाथ धाम में विरोध प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर धामी पंडा पुरोहितों से मुलाकात में देवस्थानम एक्ट पर जल्द ही कोई सकारात्मक निर्णय लेने का संकेत दे चुके हैं. चूंकि, एक्ट को खत्म करने के लिए उसे फिर से विधानसभा में लाना होगा. इसे देखते हुए बहुत संभव है कि मंगलवार को प्रस्तावित कैबिनेट मीटिंग में ही एक्ट से जुड़ा कोई बड़ा फैसला आ जा सकता है.

Tags: Chardham Panda Purohit, Dehradun news, Protest Against Devasthanam Act, Pushkar Singh Dhami, Uttarakhand Latest News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर