लाइव टीवी

लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस कैंडिडेट को कई चरणों में परखेगी फिर देगी टिकट

Robin Singh Chauhan | News18 Uttarakhand
Updated: March 10, 2019, 4:44 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस कैंडिडेट को कई चरणों में परखेगी फिर देगी टिकट
आरपी रतूडी,प्रदेश प्रवक्ता ,कांग्रेस

लोकसभा सीटों पर कई कांग्रेसी नेता खुद को योग्य बता रहे हैं. लेकिन इस बार कांग्रेस में टिकट पाने की चाहत को पूरा करना है तो इम्तहान कई हैं. जिला अध्यक्षों ने अपने जिलों से प्रत्यशियों के नाम प्रदेश संगठन को भेजे हैं

  • Share this:
लोकसभा की पांच सीटों के लिए कांग्रेस में दावेदारों की लंबी लिस्ट है. लेकिन इस बार दावेदारों को टिकट पाने के लिए कई चरणों की अग्निपरिक्षा से गुजरना होगा. चुनावी मौसम में कांग्रेस में लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए दावेदारों की झड़ी लगी हुई है. अलग अलग लोकसभा सीटों पर कई कांग्रेसी नेता खुद को योग्य बता रहे हैं. लेकिन इस बार कांग्रेस में टिकट पाने की चाहत को पूरा करना है तो इम्तहान कई हैं. जिला अध्यक्षों ने अपने जिलों से प्रत्यशियों के नाम प्रदेश संगठन को भेजे हैं. 5 लोकसभा सीटों पर पर्यवेक्षकों ने भी अपनी रिपोर्ट तैयार की है. वहीं एक गुप्त सर्वे भी किया गया है. ये तो प्रदेश की बात रही. अब दिल्ली में अलग अलग कमेटियों की कसौटी पर भी प्रत्याक्षी को खरा उतरना पड़ेगा. पार्लियामेंट्री स्क्रीनिंग कमेटी, सेंट्रल इलेक्शन कमेटी और आखिर में सीडब्ल्यूसी यानि कांग्रेस वर्किंग कमेटी भी उम्मीदवारों के प्रोफाइल पर गौर करेगी.

इस बारे में पूर्व मंत्री राजेंद्र भंडारी ने कहा कि गढ़वाल सीट पर उनकी दावेदारी है. मगर उन्होंने साथ में यह भी कहा कि पार्टी का जो भी निर्णय होगा, वह उन्हें स्वीकार होगा. उन्होंने खुद को पार्टी का वफादार सिपाही बताते हुए कहा कि उनका पार्टी के निर्णय से बाहर जाने का प्रश्न ही नहीं उठता है.

वहीं कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आरपी रतूड़ी ने कहा कि उत्तराखंड के पांचों लोकसभा सीटों पर मिलने वाले फीडबैक के आधार पर प्रत्याशी के नाम का फैसला किया जाएगा. उन्होंने कहा कि पांचों लोकसभा सीटों में से प्रत्येक पर एक, दो या तीन उम्मीदवारों के नाम भी हो सकते हैं. ये सभी नाम स्टेट इलेक्शन कमेटी को दिए जाएंगे. इस कमेटी की बैठक के बाद सेंट्रल इलेक्शन कमेटी (सीईसी) की बैठक होगी. उन्होंने कहा कि इसके बाद आखिर में प्रत्याशियों का चयन सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस वर्किंग कमेटी) करेगी.

चुनावी समर में उतरने से पहले कांग्रेस हर कसौटी पर अपने कैंडिडेट को परखना चाहती है. कांग्रेस के लिए परीक्षा बड़ी है. इसलिए योग्य उम्मीदवार ही चुनावी रण में कांग्रेस की तरफ से उतारा जाएगा.

ये भी पढ़ें - राहुल गांधी के दून दौरे से पहले कांग्रेस ने शुरू की सम्मान व गुणगान की राजनीति

ये भी पढ़ें - ओवैसी की आपत्ति पर श्री श्री का जवाब- कुछ लोगों का काम ही है सिर्फ विरोध करना

ये भी पढ़ें - तबादले से परेशान सिपाही ने दी सोशल मीडिया पर आत्महत्या की धमकी
Loading...

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 10, 2019, 12:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...