हरिद्वार में नकली दवाई बनाने वाली फ़ैक्ट्री सील... यहां बनती थीं देश भर में सप्लाई होने वाली ये मशहूर दवाइयां

इनोवा फार्मास्युटिकल्स में कई नामी एंटीबायोटिक और जिन दवायों को बैन किया जा चुका है, उन्हें बनाया जा रहा था.

Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 8, 2019, 5:05 PM IST
हरिद्वार में नकली दवाई बनाने वाली फ़ैक्ट्री सील... यहां बनती थीं देश भर में सप्लाई होने वाली ये मशहूर दवाइयां
इनोवा फार्मास्युटिकल्स में कई नामी एंटीबायोटिक और जिन दवायों को बैन किया जा चुका है, उन्हें बनाया जा रहा था.
Manish Kumar
Manish Kumar | News18 Uttarakhand
Updated: August 8, 2019, 5:05 PM IST
क्या आपको भी दवा असर नहीं करती और इस वजह से आपको बार-बार डॉक्टर बदलना पड़ रहा है. ऐसा है तो यकीन जानिए ज़रूरी नहीं कि यह डॉक्टर की कमी हो बल्कि ऐसा भी हो सकता है कि आप जो दवा खा रहे हैं वही बेकार हो. उत्तराखंड में एक ऐसी दवा फैक्ट्री पकड़ी गई है जो देश भर की नामी कंपनियों की मशहूर दवाएं बनाती थी. लगभग 10 लाख रुपये कीमत की फ़र्ज़ी दवाएं अभी तक बरामद की जा चुकी हैं.

हरिद्वार के भगवानपुर में जब इनोवा फार्मास्युटिकल्स पर ड्रग विभाग ने छापा मारा तो सभी की आंखें फटी की फटी रह गईं. यहां कई नामी एंटीबायोटिक और जिन दवायों को बैन किया जा चुका है, उन्हें बनाया जा रहा था.

एक नज़र डालते हैं उन नकली दवाओं की सूची पर जो यहां बनाई जा रही थीं...


  • GEMCAL: ये एल्कन कंपनी की नामी दवा है.

  • ACIDOX CV 325mg,

  • MEKOCEF 625: इसे सिरमौर, हिमाचल की नाडोकैल फ़ार्मा बनाती है,

  • Loading...

  • CEFIXIME AZITHROMYCIN,

  • CEFIXIME OFLOXACINE,


इनोवा फार्मास्युटिकल्स के 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. कंपनी का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है. जिन चार लोगों को पकड़ा गया है उनमें एक महिला भी शामिल है. वनमाला और उनके 2 बेटों विशाल और नीरज को अरेस्ट किया गया है जबकि इनका काम करने वाले राहुल को भी अरेस्ट किया गया है.

मानक पूरे न होने पर भी सील 

दूसरी ओर उत्तरांचल फार्मास्युटिकल्स पर भी कार्रवाई की गई है, इसका लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है. इस कंपनी में फ़र्ज़ी दवाइयां तो नही बनाई जा रही थीं लेकिन दवा बनाने के मानक पूरे नहीं किए जा रहे थे यानि ठीक ढंग से दवा नहीं बनाई जा रही थी.

बता दें कि उत्तराखंड में लगभग 250 दवा बनाने की कंपनियां हैं लेकिन ज्यादा शिकायत हरिद्वार जिले से आती रही है. अभी कुछ दिन पहले भी कार्रवाई की गई थी जिसमें बड़ा गोलमाल पकड़ा गया था.

स्वास्थ्य सचिव नितेश झा ने बताया कि यह अभियान चलता रहेगा और ऐसी फ़र्ज़ी कंपनियों पर कड़ी कार्रवाई जारी रहेगी. इसके लिए एक विशेष टीम का भी गठन किया गया है.

ये भी देखें:

VIDEO: नकली दवाओं के जखीरे के साथ तीन गिरफ्तार

नकली दवा कंपनियों के खिलाफ शिकायत के बाद भी पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

 
First published: August 8, 2019, 4:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...