Home /News /uttarakhand /

pm kisan nidhi yojna forgery in uttarakhand know how state government recovering crores from farmers

Uttarakhand में हज़ारों किसान फर्जी! डकार गए PM किसान निधि के 17 करोड़, 42 हजार खातों की जांच बाकी

उत्तराखंड सरकार अपात्र किसानों से सरकारी योजना की रकम वापस लेने के लिए वसूली कर रही है.

उत्तराखंड सरकार अपात्र किसानों से सरकारी योजना की रकम वापस लेने के लिए वसूली कर रही है.

उत्तराखंड में PM Kisan Samman Nidhi पाने वालों में से 17 हज़ार से अधिक लोग ऐसे निकले, जो योजना के लिए पात्र हैं ही नहीं. केंद्र की देखादेखी राज्य स्तर पर ऐसी ही योजना लागू करने से पहले सरकार अलर्ट तो हुई ही है, फर्जी किसानों से अब उल्टी वसूली भी की जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड में फर्ज़ी किसानों द्वारा सरकारी रकम लिये जाने के बड़े घपले का खुलासा होने पर राज्य सरकार चौकन्नी हो गई है. पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 17,000 से अधिक किसानों से वसूली की जा रही है क्योंकि ये किसान जांच में अपात्र पाए गए हैं. पिछले पांच सालों में किसान के नाम पर रजिस्टर्ड इन अपात्र लोगों के खातों में 17 करोड़ पचास लाख से अधिक की रकम जा चुकी है. इस घपले के सामने आने के बाद राज्य सरकार इस योजना की तर्ज़ पर जो सीएम किसान निधि शुरू करने वाली थी, उसे लेकर भी सतर्क हो गई है.

ऐसे डिफॉल्टर किसान सबसे ज्यादा 3500 की संख्या में टिहरी में हैं. दूसरे नंबर पर हरिद्वार और तीसरे नंबर पर नैनीताल ज़िले में फर्ज़ी किसान सबसे ज़्यादा मौजूद हैं. किसानों की सूची में शामिल ऐसे लाभार्थियों में से कई इनकम टैक्स यानी आयकर दाता पाए गए हैं, तो बड़ी संख्या में सरकारी नौकरीपेशा लोग भी इस योजना का लाभ ले रहे हैं. राज्य के कृषि मंत्री गणेश जोशी का कहना है कि सभी डीएम को इन अपात्र किसानों से धनराशि वसूली के आदेश जारी किए गए हैं. कुछ किसानों से अब तक एक करोड़ 80 लाख की वसूली भी हो चुकी है.

42 हज़ार किसानों की जांच

पीएम किसान सम्मान निधि के आंकड़े बता रहे हैं कि उत्तराखंड से नौ लाख 47 हजार किसान इस योजना में रजिस्टर्ड हैं. डिफॉल्टर पाए गए 17 हजार किसानों को छोड़ दिया जाए, तो अभी भी 42,000 किसान ऐसे हैं, जिनकी जांच नहीं हो पाई है. सरकार की कोशिश है कि सीएम किसान सम्मान निधि योजना लॉन्च करने से पहले पूरी सूची को शॉर्ट लिस्ट करा लिया जाए.

क्या है केंद्र की तर्ज़ पर राज्य की योजना?

अपात्र किसानों की इस संख्या ने जल्द ही केंद्र की तर्ज़ पर सीएम किसान सम्मान निधि देने की तैयारी कर रही राज्य सरकार को चौकन्ना कर दिया है. वास्तव में, केंद्र इस योजना के तहत 6000 रुपये किसानों को देता है जबकि उत्तराखंड सरकार इसके अलावा 2000 रुपये और किसानों को देने की योजना बना रही है. गणेश जोशी ने बताया कि इसका ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है. राज्य की योजना पर साल में करीब 1.90 करोड़ का खर्चा आएगा.

दरअसल, बीजेपी ने चुनाव में जाने से पहले अपने विज़न डॉक्यूमेंट में सत्ता में आने पर पीएम किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज़ पर सीएम किसान प्रोत्साहन निधि योजना शुरू करने का वादा किया था. माना जा रहा है कि सरकार जल्द ही कैबिनेट में प्रस्ताव लाकर इस योजना को हरी झंडी दे सकती है.

Tags: PM Kisan Samman Nidhi Yojana, Uttarakhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर