Home /News /uttarakhand /

10 साल की मासूम के रेप, हत्या के दोषी को पॉक्सो अदालत ने सुनाई फ़ांसी की सज़ा  

10 साल की मासूम के रेप, हत्या के दोषी को पॉक्सो अदालत ने सुनाई फ़ांसी की सज़ा  

10 साल की मासूम के बलात्कार और हत्या के आरोपी जय प्रकाश को पॉक्सो एक्ट ने फ़ांसी की सज़ा सुनाई है.

10 साल की मासूम के बलात्कार और हत्या के आरोपी जय प्रकाश को पॉक्सो एक्ट ने फ़ांसी की सज़ा सुनाई है.

नए पॉक्सो एक्ट के तहत किसी दोषी को सज़ा सुनाए जाने का यह पहला मामला है.

    देहरादून में 10 साल की बच्ची (Girl Child) से दुष्कर्म (Rape) कर हत्या (Murder) करने के दोषी को आज पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) ने फांसी की सज़ा (Capital Punishment) सुनाई है. पॉक्सो कोर्ट में जस्टिस रमा पाण्डेय (Justice Rama Pandey) की अदालत ने आरोपी जय प्रकाश को धारा 302, 201, 376, 377 धाराओं में सज़ा सुनाई. दोषी को अलग-अलग अपराधों में कारावास (Jail) की सज़ा भी सुनाई गई है.  ख़ास बात यह है कि नए पॉक्सो एक्ट के तहत किसी दोषी को सज़ा सुनाए जाने का यह पहला मामला है. सरकारी वकील ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए उम्मीद जताई कि इससे बच्चों के शोषण के अपराधों में कमी लाने में मदद मिलेगी.

    साथी मज़दूर की बेटी का रेप, मर्डर 

    यह मामला 28 जुलाई, 2018 का है. थाना सहसपुर क्षेत्र में एक निजी कॉलेज के निर्माणाधीन भवन में जयप्रकाश मज़दूरी का काम कर रहा था. वह साथ ही काम करने वाले एक मज़दूर की 10 साल की मासूम को 10 रुपये देने के बहाने निर्माणाधीन भवन के कोने में ले गया और बलात्कार करने के बाद मासूम की गला घोटकर हत्या कर दी.

    इसके बाद जयप्रकाश ने शव को ठिकाने लगाने के लिए कमरे के नीचे गड्ढा खोदकर पत्थरों और सीमेंट के बोरों से ढक दिया. बच्ची घर नहीं पहुंची तो माता-पिता ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने तफ़्तीश के बाद जयप्रकाश को गिरफ़्तार किया जिसे पॉक्सो अदालत में पेश किया. अपराध के 13 महीने बाद पीड़िता को इंसाफ़ मिला और कोर्ट ने अपराधी को धारा 302 फांसी की सज़ा सुनाई.

    पीड़ित परिवार को क्षतिपूर्ति

    सरकारी वकील भरत सिंह नेगी ने बताया कि अन्य धाराओं में अदालत ने अपराधी को आजीवन कारावास और 5 साल कारावास की सज़ा भी दी हैं. अपराधी पर लगाए गए दो आर्थिक दंड में से पीड़ित परिवार को क्षतिपूर्ति के रूप में 10,000+10,000 रुपये देने के आदेश दिए गए हैं. अदालत ने देहरादून के ज़िलाधिकारी को क्षतिपूर्ति के रूप में पीड़ित परिवार को 1,00,000 रुपये देने के निर्देश भी दिए हैं.

    ये भी देखें:  

    दुष्कर्म के दोषी को पॉक्सो कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा 

    मासूम से दुष्‍कर्म के प्रयास के आरोपी को 5 साल की कैद, 20 हजार रुपए का जुर्माना 

    Tags: Child sexual abuse, Crime Against Child, Minor girl rape, Murder, Pocso act, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर