'लॉकडाउन का पालन करवाएं लेकिन मुर्गा बनाने या उठक-बैठक कराने जैसे तरीके न अपनाएं पुलिसकर्मी'

डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने पुलिस को मुर्गा बनाने या उठक-बैठक लगवाने जैसे आदिम तरीकों से बचने को कहा है.
डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने पुलिस को मुर्गा बनाने या उठक-बैठक लगवाने जैसे आदिम तरीकों से बचने को कहा है.

पुलिसकर्मियों को फूल माला पहनाकर स्वागत या सम्मान किए जाने की प्रक्रिया से भी दूरी बनाए रखने को कहा है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड पुलिस के डीजी (Law & Order) अशोक कुमार ने  Uttarakhand Police के जवानों को निर्देशित किया है कि लॉकडाउन का उल्लंघन कर अनावश्यक रूप से सड़कों पर घूमने वालों पर कानून के तहत कार्रवाई तो की जानी है लेकिन उन्हें मुर्गा बनाने या उठक-बैठक करने जैसी सज़ा देने से बचना है. डीजी (कानून-व्यवस्था) ने कहा कि लोगों के प्रति हमें हेल्पिंग और मानवीय दृष्टिकोण अपनाना है, संयम और सतर्कता को नहीं खोना है. पुलिस कार्य करते हुए ध्यान रखना है कि हमारी छवि सकारात्मक हो क्योंकि यह सब हम जनता के लिए ही कर रहे हैं.

सम्मान समारोहों से बचे पुलिस

अशोक कुमार ने कहा कि जनता को लॉकडाउन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें. इसके साथ ही उन्होंने पुलिसकर्मियों को फूल माला पहनाकर स्वागत या सम्मान किए जाने की प्रक्रिया से भी दूरी बनाए रखने को कहा है. दरअसल ऐसे कार्यक्रमों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होता है और इससे पुलिसकर्मियो को भी संक्रमण होने की पूरी सम्भावना रहती है.



डीजी (कानून-व्यवस्था) ने कहा कि कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी के समय में पुलिस के लिए अपनी सुरक्षा करना ज़रूरी है और इसलिए बेहतर है कि पुलिसकर्मी इस सबसे बचें. आपकी सुरक्षा के लिए जरूरी है कि आप इन सब से बचे रहें.
वृद्धा के लिए दवा लेकर पहुंची पुलिस

दूसरी ओर उत्तराखंड का 'पुलिस मित्र पुलिस' का काम जारी है. अल्मोड़ा में Police के फ़ेसबुक पेज पर एक समाजसेवी अमित रावत ने ज़िला मुख्यालय से 180 किलोमीटर दूर सल्ट के कोट जसपुर गांव में वृद्धा झपरी देवी का वीडियो पोस्ट किया. इसके साथ ही लिखा कि झपरी देवी शुगर, अस्थमा आदि बीमारियों से पीड़ित हैं और उनका इलाज बृजलाल अस्पताल, हल्द्वानी से चल रहा है. उनकी दवाइयां समाप्त हो गई हैं, उन्हें मदद की ज़रूरत है.

वीडियो का संज्ञान लेते हुए अल्मोड़ा पुलिस  ने झपरी देवी को फ़ोन कर जल्द ही दवा उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया और तुरंत बृजलाल अस्पताल, हल्द्वानी से दवाइयां मंगवाकर पुलिसकर्मियों ने चार किमी पैदल चलकर उन्हें दवाइयां दीं. दवाइयों के साथ ही पुलिसकर्मी उनके लिए फल भी ले गए. अपनी दवाइयां और फल मिलने पर झपरी देवी ने पुलिसकर्मियों को खूब आशीष दिया.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज