लाइव टीवी

ऊंचाई पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों को मिलेगी SDRF वाली ट्रेनिंग, भत्ते के लिए ऊंचाई को भी किया गया कम
Dehradun News in Hindi

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: December 25, 2019, 3:03 PM IST
ऊंचाई पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों को मिलेगी SDRF वाली ट्रेनिंग, भत्ते के लिए ऊंचाई को भी किया गया कम
उत्तरकाशी के हर्षिल में एक सिपाही का एक घायल टूरिस्ट को पीठ पर उठाकर सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने का वीडियो बहुत वायरल हुआ था. इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने ऊंचाई में काम करने वाले पुलिसकर्मियों को बेहतर उपकरण देने का फ़ैसला किया.

ऊंचाई पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों बर्फ़ में चलने वाले जूते, बेहतर जैकेट्स और स्नोकटर जैसे उपकरण उपलब्ध करवाए जाएंगे.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड में ऊंचे पहाड़ी इलाक़ों में काम कर रहे पुलिसकर्मियों के लिए काम करना अब आसान हो जाएगा. पुलिस के आला अधिकारियों ने ऊंचाई में काम करने वाले पुलिसकर्मियों को बेहतर उपकरण और ट्रेनिंग से लैस करने का ऐलान किया है. सिर्फ़ यही नहीं ज़्यादा ऊंचाई पर पुलिसकर्मियों को मिलने वाला भत्ते के लिए ऊंचाई की सीमा कुछ कम कर दी गई है ताकि ज़्यादा पुलिसकर्मियों को इसका फ़ायदा मिल सके.

वायरल वीडियो का असर 

बता दें कि मीडिया में कुछ दिन पहले बिना पर्याप्त उपकरणों के पुलिसकर्मियों के तत्परता से काम करने और टूरिस्टों की मदद करने की ख़बरें आई थीं. ख़ासतौर पर उत्तरकाशी के हर्षिल में एक सिपाही का एक घायल टूरिस्ट को पीठ पर उठाकर सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने का वीडियो बहुत वायरल हुआ था. इसका संज्ञान लेते हुए उत्तराखंड के डीजी (अपराध और कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने ऐसे कई फ़ैसले लिए हैं जिससे पुलिसकर्मियों और बेहतर ढंग से काम कर सकें.



एक नज़र ऐसे फ़ैसलों पर...




  • 7000 फ़ीट और ज़्यादा ऊंचाई पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों को भी 200 रुपये प्रतिदिन का भत्ता मिलेगा. पहले यह भत्ता 9000 फ़ीट ऊंचाई पर तैनात पुलिसकर्मयों को मिलता था.

  • बेहतर पुलिस वर्क के लिए पुलिसकर्मियों को सर्दियों के लिए विशेष ड्रेस और एडवांस उपकरणों से लैस किया जाएगा. अब ऊंचाई पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों बर्फ़ में चलने वाले जूते, बेहतर जैकेट्स और स्नोकटर जैसे उपकरण उपलब्ध करवाए जाएंगे.

  • 7000 फ़ीट की ऊंचाई पर तैनात सभी पुलिसकर्मयों को एसडीआरएफ़ की तर्ज पर बर्फ़बारी में काम करने की ट्रेनिंग दी जाएगी.


पर्यटकों के लिए 24 घंटे तैनात 

डीजी (अपराध और कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने कहा कि पहले ज़्यादा ठंड पड़ने पर पुलिसकर्मी भी निचले इलाक़ों में आ जाते थे. अब राज्य में विंटर टूरिज़्म लगातार बढ़ रहा है और बर्फ़बारी को देखने सैलानी इन इलाकों में जा रहे हैं. इनकी सुरक्षा के लिए पुलिस को 24 घंटे इन इलाकों में तैनात रखना पड़ता है.

उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी मुस्तैद और सतर्क रहकर काम कर पाएं इसके लिए नए प्रावधान करना ज़रूरी हो गया है.

ये भी देखें: 

सत्यापन अभियान में दून पुलिस ने ठोका सवा करोड़ का जुर्माना 

हरिद्वार ज़िला कारागार में फ़ोन मिलने के मामले में नप सकते हैं जेलकर्मी भी, 3 मामलों में जांच 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 25, 2019, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading