लाइव टीवी

उत्तराखंड भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष के लिए रेस शुरु... कैलाश पंत ने ठोकी दावेदारी, भगत पर उम्र को लेकर निशाना

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: January 14, 2020, 1:59 PM IST
उत्तराखंड भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष के लिए रेस शुरु... कैलाश पंत ने ठोकी दावेदारी, भगत पर उम्र को लेकर निशाना
संघ में विभाग प्रचारक रहे और भाजपा में संगठन महामंत्री रहे कैलाश पंत प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए खुलकर दावेदारी करने वाले पहले नेता बन गए हैं.

पंत ने कहा कि गढ़वाल हो या कुमाऊं हर जिले में वह एक-एक कार्यकर्ता को जानते हैं और सभी कार्यकर्ता उन्हें. इसीलिए वह प्रदेश अध्यक्ष की दावेदारी कर रहे हैं.

  • Share this:
देहरादून. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के चुनाव की डेट फाइनल होते ही पार्टी में राजनीतिक हलचल तेज़ हो गई है. संघ में विभाग प्रचारक रहे और भाजपा में संगठन महामंत्री रहे कैलाश पंत प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए खुलकर दावेदारी करने वाले पहले नेता बन गए हैं. हालांकि राजनीतिक हलकों में सूत्रों के हवाले से कल से ही कई नाम चल रहे हैं जिनमें अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा और विधायक वंशीधर भगत के नाम शामिल हैं लेकिन अब तक किसी ने खुलकर दावेदार नहीं की है.

सब कार्यकर्ताओं से है परिचय 

पिथौरागढ़ के कैलाश पंत ने उत्तराखंड बीजेपी अध्यक्ष के लिए दावेदारी करते हुए कहा है कि वह बरसों से पहले संघ और फिर पार्टी के लिए बिना किसी चाह के काम कर रहे हैं. वह पांच साल पार्टी में संगठन महामंत्री भी रहे हैं और उन्हें पार्टी के संगठन की अच्छी जानकारी है.

कैलाश पंत का कहना है कि भले ही पिछले 13 साल से उनके पास कोई पोर्टफ़ोलियो नहीं है लेकिन वह लगातार दिन-रात पार्टी के लिए काम कर रहे हैं. पंत ने कहा कि गढ़वाल हो या कुमाऊं हर जिले में वह एक-एक कार्यकर्ता को जानते हैं और सभी कार्यकर्ता उन्हें. इसीलिए वह प्रदेश अध्यक्ष की दावेदारी कर रहे हैं.

भगत को चुनौती 

पंत ने भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे पूर्व मंत्री और विधायक वंशीधर भगत की दावेदारी को भी चुनौती दी. पंत ने कहा कि भगत पार्टी के बहुत पुराने नेता तो हैं लेकिन उम्रदराज़ भी हो चुके हैं.

2022 की चुनौती को देखते हुए पार्टी में नई जान फूंकने की ज़रूरत है और इसके लिए ज़मीनी स्तर पर मेहनत करनी होगी. पार्टी को ज़रूरत है कि प्रदेश अध्यक्ष ऐसा हो जो पहाड़ में घंटों तक यात्रा भी कर सके और पैदल पंगडंडिया भी नाप सके. भगत की उम्र इसमें बाधा बन सकती है.ये भी देखें: 

उत्तराखंड बीजेपी में भी नए प्रदेश अध्यक्ष की सुगबुगाहट तेज़, रेस में हैं ये तीन नाम

उत्तराखंड बीजेपी में अब बाहर के नेताओं के लिए नो एंट्री!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 1:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर