उत्तराखंड में बारिश ने मचाई तबाही, 3 लोगों की मौत, 250 सड़कें बंद

मांडों में रात ही एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन की टीमों ने मोर्चा संभाला.

मौसम विभाग के अनुसार पूरे प्रदेश में बारिश अभी बनी रहेगी. उत्तरकाशी, देहरादून, हरिद्वार में सोमवार को हैवी रेन और कहीं-कहीं एक्सट्रीमली हैवी रेन की संभावना जताई गई है. विभाग ने नदी किनारे रहने वाले लोगों को अलर्ट रहने को कहा है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड में आसमानी आफत ने तबाही मचाई हुई है. पिछले 24 घंटे से भी अधिक समय से जारी मूसलधार बारिश ने प्रदेश के कई हिस्सों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित कर दिया है. राज्य के गढ़वाल रीजन के उत्तरकाशी जिले में सोमवार रात मूसलधार बारिश के बीच बादल फटने से मांडों, कंकराडी समेत तीन गांवों में जमकर तबाही मची. मांडों में एक ही परिवार के तीन लोगों की दर्दनाक मौत मलबे में दबकर हो गई. कंकराड़ी गांव से होते हुए जब जलजला मांडों गांव के बीच से बहने वाले गदेरे में पहुंचा तो कई मकानों को मलबे से पाटता हुआ आगे बढ़ गया. दोनों गांवों में करीब डेढ़ दर्जन मकान प्रभावित हुए हैं. कंकराड़ी गांव में दो मकान पूरी तरह वॉश आउट हो गए.

मांडों गांव से 3 शव मिले

मांडों में रात ही एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन की टीमों ने मोर्चा संभाला. ग्रामीणों की मदद से सोमवार सुबह मांडों गांव से दो महिलाओं समेत एक बच्चे का शव बरामद किया गया. कंकराड़ी गांव में एक व्यक्ति अभी भी लापता है. यहां एसडीआरफ, एनडीआरफ की टीमें सर्च अभियान चला रही हैं. दूसरी ओर कुमाऊं रीजन में भी बारिश का सिलसिला जारी है. बागेश्वर में एक महिला नदी में बह गई. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रभावित लोगों के प्रति संवेदना जताते हुए प्रशासन को पीड़ित परिवारों को हरसंभव मदद पहुंचाने का निर्देश दिया है.

रिकॉर्ड बारिश दर्ज की गई

प्रदेश में उत्तरकाशी जिला मुख्यालय में सबसे अधिक 185 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई. दूसरे नंबर पर रहा टिहरी का धनौल्टी क्षेत्र. यहां 125 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई. तो इसी से लगे मसूरी में 94 एमएम बारिश हुई. चमोली के कर्णप्रयाग एरिया में 79 तो अल्मोड़ा के रानीखेत में 75 एमएम बारिश रिकॉर्ड हुई है. यूएसनगर के जसपुर, गदरपुर और काशीपुर में 70 एमएम बारिश हुई है जबकि देहरादून में 62 तो ऋषिकेश में 64 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है.

250 सड़कें अभी भी बंद

सोमवार सुबह तक प्रदेश भर में 300 से अधिक सड़कें बंद हो गई थीं, जिनमें से तकरीबन 65 सड़कें खोली जा चुकीं हैं. अभी भी 250 से अधिक सड़कें अभी भी बंद हैं. इससे जनजीवन बड़े पैमाने पर प्रभावित हुआ है. राजधानी देहरादून में भी करीब 7 स्थानों पर जलभराव होने के कारण लोग भारी परेशानियों में रहे.

बारिश अभी होती रहेगी, अलर्ट जारी

मौसम विभाग के अनुसार पूरे प्रदेश में बारिश अभी बनी रहेगी. उत्तरकाशी, देहरादून, हरिद्वार में सोमवार को हैवी रेन और कहीं-कहीं एक्सट्रीमली हैवी रेन की संभावना जताई गई है. विभाग ने नदी किनारे रहने वाले लोगों को अलर्ट रहने को कहा है. विभाग ने 20 जुलाई को कुमाऊं रीजन में मध्यम गति की बारिश की संभावना जताई है. 20 जुलाई को हरिद्वार, टिहरी, उत्तरकाशी, देहरादून के लिए अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह के अनुसार यहां हैवी रेन फॉल हो सकता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.