सरकारी अस्पतालों में कई गुना हुई रजिस्ट्रेशन फ़ीस, दवा ख़रीद को हुई आसान

Bharti Saklani | News18 Uttarakhand
Updated: August 28, 2019, 7:52 PM IST
सरकारी अस्पतालों में कई गुना हुई रजिस्ट्रेशन फ़ीस, दवा ख़रीद को हुई आसान
सरकारी अस्पतालों और सीएचसी, पीएचसी में रजिस्ट्रेशन फ़ीस को बढ़ाया गया है.

पांच किलोमीटर के दायरे में एंबुलेंस को मुफ़्त कर दिया गया है.

  • Share this:
उत्तराखंड कैबिनेट (Uttarakhand Cabinet) ने आज स्वास्थ्य विभाग (Health Department) से जुड़े पांच प्रस्तावों पर मुहर लगाई है. इनसे सरकारी अस्पतालों  (Government Hospitals) में इलाज (Treatment) पर सीधा असर पड़ने वाला है. यह असर अटल आयुष्मान योजना (Atal Ayushman Scheme) के लाभार्थियों पर पड़ेगा. सरकारी डिस्पेंसरियों से ज़िला अस्पताल तक रजिस्ट्रेशन फ़ीस (Registration Fees) को कई गुना बढ़ा दिया गया है तो पांच किलोमीटर के दायरे में एंबुलेंस (Ambulance) को मुफ़्त कर दिया गया है. दवा ख़रीद की नई नीति (Drugs Purchase Policy) को भी मंज़ूरी मिल गई है और दवाओं की ख़रीब को सुलभ बनाने के लिए कई समितियां बना दी गई हैं. स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी सचिव पंकज पांडे ने स्वास्थ्य विभाग से जुड़े इन फ़ैसलों की जानकारी दी.

नई दवा ख़रीद नीति 

पंकज पांडे ने बताया कि पिछले कुछ सालों के अनुभव को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने दवा ख़रीद नीति को बदलने का आग्रह किया था, जिसे कैबिनेट ने स्वीकार कर लिया है. नई ख़रीद नीति में दवा बनाने वाली कंपनियों की क्षमता में बदलाव किया गया है. पहले 70 करोड़ के टर्नओवर वाली कंपनियां ही दवा आपूर्ति के लिए आवेदन कर सकती थीं अब इसे कम करके 30 करोड़ कर दिया गया है और उत्तराखंड में दवा निर्माण कर रही कंपनियों के लिए यह सिर्फ़ 10 करोड़ होगा.

इसके अलावा 103 लाइफ़ सेविंग ड्रग्स, जिन्हें सेंट्रल पीएसयू बनाते हैं, उन्हें सीधे केंद्र से ही ख़रीदा जाएगा. हीमोफ़ीलिया, एंटी रैबीज़, स्नेक वेनम को अगर टेंडर के बाद नहीं खरीदा जा सका तो एम्स और ईएसआई के रेट पर स्वास्थ्य विभाग उन्हें ख़रीद सकेगा. डीजी हेल्थ स्तर पर एक समिति बनाई गई है जो साल में दो बार नियमानुसार ख़रीद करेगी. ज़िला स्तर पर भी दवा ख़रीद के लिए समिति बनाई गई है और छोटे सामान को सीएमओ अपने स्तर पर भी ख़रीद सकेंगे.

रजिस्ट्रेशन चार्ज 

रजिस्ट्रेशन चार्ज 2010 से 2 रुपये और 3 रुपये थे. इन्हें कई गुना बढ़ाया गया है. अटल आयुष्मान योनजा के लाभार्थियों के लिए पीएचसी में इन्हें बढ़ाकर 15 रुपये, सीएचसी में 20 रुपये और ज़िला, उप-ज़िला अस्पताल में इन्हें बढ़ाकर 30 रुपये कर दिया गया है. अटल आयुष्मान योजना में जो कवर नहीं होते उन्हें इसके दोगुने का भुगतान करना होगा.

ये भी देखें: 
Loading...

सीएम ने की स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा, कहा- दो साल में स्वास्थ्य सुविधाएं हुई हैं बेहतर

चमकी से उत्तराखंड भी सावधान... सीएम ने स्वास्थ्य विभाग को दिए कुछ ख़ास निर्देश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 7:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...