गंगा की तर्ज पर यमुना के पुनरुद्धार की क़वायद शुरु, FRI बनाएगा डिटेल रिपोर्ट

एफ़आरआई सातों राज्यों में बैठकें कर स्थानीय विशेषज्ञों से यमुना के पुनरुद्धार के लिए सुझाव लेगा और फिर इस पर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जाएगी.

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 7:04 PM IST
गंगा की तर्ज पर यमुना के पुनरुद्धार की क़वायद शुरु, FRI बनाएगा डिटेल रिपोर्ट
यमुनोत्री से निकलने वाली 1376 किलोमीटर लंबी यमुना नदी उत्तराखंड समेत 7 राज्यों से गुज़रती है.
Sunil Navprabhat
Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 7:04 PM IST
गंगा की तरह अब यमुना नदी के पुनरुद्धार की भी क़वायद भी शुरु हो गई है. केंद्र सरकार ने इसके लिए वन अनुसंधान संस्थान,FRI, देहरादून को नोडल एजेंसी बनाकर उसे डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने का काम सौंपा है. साल भर के भीतर तैयार होने वाली इस डीपीआर की तैयारी शुरू हो गई है. शुक्रवार को एफआरआई में आयेाजित इसकी पहली बैठक में आईआईटी, नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हाइड्रोलॉजी, रिमोट सेंसिंग, डिपार्टमेंट ऑफ सॉयल कंज़रर्वेशन, उत्तराखंड वन विभाग, पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड, गैर सरकारी संगठनों सहित विशेषज्ञों से सुझाव लिए गए.

इस बैठक से निकली ख़ास बातें...

1376 किलोमीटर लंबी यमुना नदी सात राज्यों उत्तराखंड, हिमाचल, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश और दिल्ली से होकर गुजरती है.

यमुना का कुल ड्रेनेज एरिया 3,45,848 वर्ग किलोमीटर है.

एफ़आरआई सातों राज्यों में बैठकें कर स्थानीय विशेषज्ञों से यमुना के पुनरुद्धार के लिए सुझाव लेगा और फिर इस पर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जाएगी.

उत्तराखंड में यमनोत्री ग्लेशियर से निकलने वाली यमुना में हिमालयी क्षेत्र में चार नदियां ऋषि गंगा, हनुमान गंगा, टौंस और गिरी आकर मिलती हैं मैदान में हिंडन, चंबल, सिंध. बेतवा और केन नदियां यमुना में मिलती हैं.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 7:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...