Home /News /uttarakhand /

Uttarakhand Voting Day: देहरादून में 10 साल में 30% वोटर बढ़े, बूथों पर कितना दिखा असर

Uttarakhand Voting Day: देहरादून में 10 साल में 30% वोटर बढ़े, बूथों पर कितना दिखा असर

देहरादून में वोटिंग का दौर जारी है.

देहरादून में वोटिंग का दौर जारी है.

Uttarakhand Assembly Elections 2022: उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग जारी है. दोपहर बाद 3 बजे तक पूरे प्रदेश में मतदान का आंकड़ा करीब 50 फीसदी हो चुका है. वहीं, देहरादून में अब तक करीब 35 फीसदी वोट डाले जा चुके हैं. इसमें गौर करने वाली बात यह है कि देहरादून में पिछले दो चुनावों के मुकाबले इस साल मतदाताओं की संख्या में इजाफा हुआ है.

अधिक पढ़ें ...

देहरादून. उत्तराखंड में आज सुबह से विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Elections 2022) के लिए वोट डाले जा रहे हैं. दोपहर बाद 3 बजे तक पूरे प्रदेश में मतदान का आंकड़ा करीब 50 फीसदी हो चुका है. अब अगले कुछ घंटों का मतदान बाकी है. उत्तराखंड के अलावा आज पड़ोसी राज्य यूपी में भी दूसरे चरण का मतदान हो रहा है. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की बात करें तो यहां भी दोपहर तक करीब 35 फीसदी वोट डाले जा चुके हैं. इसमें गौर करने वाली बात यह है कि देहरादून में पिछले दो चुनावों के मुकाबले इस साल मतदाताओं की संख्या में इजाफा हुआ है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की मानें तो पिछले 10 साल में देहरादून के मतदाताओं की संख्या में 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. देहरादून की संस्था SDC फाउंडेशन की स्टडी के आधार पर रिपोर्ट में कहा गया है कि 2012 के मुकाबले 2022 में देहरादून में मतदाताओं की संख्या बढ़ी है. फाउंडेशन की स्टडी रिपोर्ट के हवाले से अखबार ने लिखा है कि 2012 में जहां देहरादून के वोटरों की संख्या 63.77 लाख थी, वहीं इस साल यह संख्या बढ़कर 82.66 लाख हो गई है.

साल 2012 में उत्तराखंड में राज्य की स्थापना के बाद से तीसरा चुनाव हुआ था, जबकि 2022 में छठी बार चुनाव हो रहे हैं. अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 10 वर्षों में उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में वोटरों की संख्या में 18,89,314 की वृद्धि हुई है. एसडीसी फाउंडेशन के निदेशक अनूप नौटियाल ने अखबार से बातचीत में कहा कि 2002 से 2012 के बीच पूरे राज्य में मतदाताओं की संख्या में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी. उसके बाद पिछले दशक में वोटरों की वृद्धि की मुख्य वजह दूसरे राज्यों में रहने वालों का उत्तराखंड लौटना हो सकता है.

अनूप नोटियाल वोटरों की संख्या में बढ़ोतरी की एक और वजह बताते हैं. फाउंडेशन की स्टडी-रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में पहाड़ से मैदान में आने वालों की संख्या में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है. इसके अलावा बाहरी राज्यों से आकर देहरादून या उत्तराखंड के अलग-अलग जगहों पर बसने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ी है. यह भी एक वजह हो सकती है, जिसके कारण राज्य में मतदाताओं की संख्या में यह उछाल आया है.

Tags: Dehradun Latest News, Uttarakhand Assembly Elections, Uttarakhand elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर