Haridwar Kumbh: कुंभ मेले से छंटी भीड़, वापस जा रहे संत, पीएम मोदी ने की थी अखाड़ों से समापन की अपील

हरिद्वार महाकुंभ में कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ रही थीं.

हरिद्वार महाकुंभ में कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ रही थीं.

Haridwar Kumbh: पीएम मोदी (PM Modi) की अपील के बाद रविवार को सबसे बड़े जूना अखाड़े के प्रमुख अवधेशानंद ने कुंभ के समापन की घोषणा की थी. अब इसका असर दिखने लगा है और न सिर्फ कुंभ मेले से भीड़ छंटी रही है बल्कि संत भी वापस जा रहे हैं.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना वायरस के मामलों के तेजी से बढ़ने के चलते हरिद्वार में महाकुंभ (Haridwar Mahakumbh) से प्रमुख अखाड़ों के संतों ने वापस जाना शुरू कर दिया है, जिसके बाद भीड़ में अचानक भारी कमी आई है. दरअसल रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने अखाड़ों से अपील की थी कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कुंभ का समापन कर दिया जाए. इसके बाद सबसे बड़े जूना अखाड़े के प्रमुख अवधेशानंद ने कुंभ के समापन की घोषणा की थी.

बता दें कि सोमवार को कई स्थानों पर भीड़ नहीं दिखी थी. हालांकि आधिकारिक रूप से 30 अप्रैल को समाप्त होने वाले हरिद्वार कुंभ मेले के दौरान यह अकल्पनीय नजारा है.

पीएम मोदी कीअपील का दिखा असर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को साधुओं से कुंभ के शेष हिस्से को सांकेतिक रखने की अपील की थी. इसी वजह से अब स्नान घाटों पर भीड़ दिखाई नहीं दे रही है, जहां 14 अप्रैल को सोशल डिस्‍टेंस जैसे कोविड-19 नियमों की अनदेखी कर साधु और आम लोग शाही स्नान के दौरान गंगा में डुबकी लगाने के लिए उमड़ पड़े थे.
यही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम लोगों से अपील की कि अब कुंभ को प्रतीकात्मक ही रखा जाए. पीएम मोदी ने हरिद्वार में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं में कोरोना संक्रमण की खबरों के बाद लोगों से इस संकट काल में सहयोग की अपील की थी. पीएम मोदी की अपील के बाद महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद ने कुंभ के समापन की घोषणा के साथ अपील की थी कि बुजुर्ग और बच्चे शाही स्नान में न आएं. संत समाज बैरागियों के साथ है, उनके स्नान होने चाहिए. उन्होंने कहा कि कुंभ समाप्त नहीं होगा, हम आग्रह करते हैं कि श्रद्धालु कम संख्या में आएं.

बता दें कि कुंभ में एक दिन में 229 संतों के कोरोना की चपेट में आने के बाद हड़कंप मच गया था. इसके बाद राज्‍य के सीएम तीरथ सिंह रावत निशाने पर आ गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज