मंत्री सतपाल महाराज ने पूर्व CM त्रिवेंद्र रावत को बताया कोरोना को जीव कहने वाला दार्शनिक

मंत्री सतपाल महाराज ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को बताया कोरोना को जीव मानने वाला दार्शनिक ,

मंत्री सतपाल महाराज ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को बताया कोरोना को जीव मानने वाला दार्शनिक ,

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत और मंत्रियों के बीच बनी तल्खी कम नहीं हो रही. मंत्री सतपाल महाराज ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को निशाने पर लिया है. उन्होंने उन्हें ऐसा दार्शनिक करार दे दिया कि जो कोरोना को भी एक जीव बताते हुए उसके जीने के अधिकार की वकालत करते हैं.

  • Share this:

देहरादून. पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ( trivendra rawat ) और मंत्रियों के बीच बनी तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है. अबकी बार मंत्री सतपाल महाराज ( satpal maharaj ) ने पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत को निशाने पर लेते हुए उन्हें ऐसा दार्शनिक करार दे दिया कि जो कोरोना को भी एक जीव बताते हुए उसके जीने के अधिकार की वकालत करते हैं. इस बयान के बाद विपक्ष में बैठी कांग्रेस भाजपा के भीतरी घमासान का चटकारे ले रही है.

यह मामला दो दिन पूर्व ही त्रिवेंद्र रावत द्वारा दिए गए बयान से जुड़ा है. पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा था कि ऐसे लोग जो वैक्सीन की डबल डोज लगवा चुके हैं, उनको चारधाम यात्रा पर आने की अनुमति दे दी जाए. पूर्व सीएम के बयान के तत्काल बाद सरकार के प्रवक्ता मंत्री सुबोध उनियाल ने इस प्रस्ताव को ये कहकर खारिज कर दिया था कि वैक्सीन की डबल डोज लगा चुके लोग भले ही खुद सुरक्षित हों, लेकिन ये लोग वायरस के लिए कैरियर का काम कर सकते हैं. इससे दूसरों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है . इसीलिए यह प्रस्ताव अनुचित है.

पूर्व सीएम के इसी बयान पर सोमवार को पर्यटन एवं धर्मस्व मंत्री सतपाल महाराज ने आधार बनाते हुए कहा कि चारधाम यात्रा जब खुलेगी, उसमें वैक्सीन की डबल डोज वालों को भी बिना आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट के अनुमति नहीं दी जाएगी. सतपाल महाराज ने पूर्व सीएम पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कुछ दार्शनिक तो ये भी कह देते हैं कि कोरोना वायरस एक जीव है, उसे भी जीने का अधिकार है.

दरअसल, कुछ दिन पूर्व त्रिवेंद्र रावत अपने एक बयान में कोरोना वायरस को एक जीव बताते हुए कह गए थे कि उसे भी जीने का अधिकार है. पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पर पूर्व में मंत्री हरक सिंह रावत भी खुलेआम कमेंट कर चुके हैं.
उधर, विपक्षी कांग्रेस मामले में चटकारे ले रही है. कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि सत्ताधारी दल के मंत्रियों, पूर्व मुख्यमंत्रियों में जिस तरह की जुबानी जंग चल रही है, उससे लगता है कि सरकार में सबकुछ ठीक ठाक नहीं है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज