लाइव टीवी

उत्तराखंड से बाहर पहुंची छात्रवृत्ति घोटाले की जांच... यूपी, हरियाणा, राजस्थान के कॉलेजों पर भी FIR दर्ज

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: October 21, 2019, 7:57 PM IST
उत्तराखंड से बाहर पहुंची छात्रवृत्ति घोटाले की जांच... यूपी, हरियाणा, राजस्थान के कॉलेजों पर भी FIR दर्ज
एसआईटी ने छात्रवृत्ति घोटाले में हरिद्वार के तीन और यूपी, हरियाणा और राजस्थान के 4 कॉलेजो के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की है.

उत्तराखंड (Uttarakhand) के ऐसे पात्र छात्रों को भी समाज कल्याण विभाग (Social Welfare Department) की छात्रवृत्ति (Scholarship) मिलती है जो राज्य के बाहर शिक्षण संस्थानों में पढ़ते हैं.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) के सबसे बड़े घोटाले में से एक छात्रवृत्ति घोटाले (Scholarship Scam) मामले में एसआईटी (SIT) ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की है. पहली बार एसआईटी प्रदेश की सीमा के बाहर गई है और तीन राज्यों के कॉलेजों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर (FIR against 3 colleges) दर्ज की गई है. एसआईटी ने घोटाले में दोषी मानते हुए हरिद्वार ज़िले में 7 कॉलेजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. इनमें से तीन कॉलेज हरिद्वार (Haridwar) के हैं और चार कॉलेज यूपी (UP), हरियाणा (Haryana) और राजस्थान (Rajsthan) के. एसआईटी के अनुसार इन कॉलेजों ने राज्य के छात्रों के नाम की छात्रवृत्ति के करीब 4 करोड़ रुपये फ़र्जी तरीके से हड़पे थे.

ऐसे हुआ घोटाला

बता दें कि 700 करोड़ रुपये से ज़्यादा के छात्रवृत्ति घोटाले की जांच हाईकोर्ट के आदेश पर एसआईटी कर रही है. इस मामले में एसआईटी अब तक 13 कॉलेज मालिकों और चार समाज कल्याण अधिकारियों को गिरफ़्तार किया है.

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को दी जाने वाली छात्रवृत्ति में यह घोटाला समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों और चंद शिक्षण संस्थानों ने मिलकर किया. इसमें शिक्षण संस्थानों ने फ़र्ज़ी एडमिशन दिखाकर छात्रवृत्ति की राशि के लिए क्लेम किया और अफ़सरों ने इन एडमिशन की पुष्टि कर दी और दोनों ने मिलकर सरकारी पैसे का गबन कर लिया.

पहली बार राज्य के बाहर कार्रवाई

टीसी मंजुनाथ के नेतृत्व में एसआईटी ने अभी तक सिर्फ़ राज्य के शिक्षण संस्थानों के ख़िलाफ़ ही कार्रवाई की थी. आज पहली बार एसआईटी ने राज्य से बाहर के ऐसे कॉलेजों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की जो इस फ़र्ज़ीवाड़े में शामिल थे.

दरअसल उत्तराखंड के ऐसे पात्र छात्रों को भी समाज कल्याण विभाग की छात्रवृत्ति मिलती है जो राज्य के बाहर शिक्षण संस्थानों में पढ़ते हैं. ऐसे ही चार शिक्षण संस्थानों के ख़िलाफ़ हरिद्वार में एफ़आईआर दर्ज की गई है. अब तक एसआईटी कुल 20 शिक्षण संस्थानों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर चुकी है. डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार के अनुसार अभी कुछ और गिरफ़्तारियां हो सकती हैं.
Loading...

ये भी देखें: 

करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के 3 अफ़सर न्यायिक हिरासत में

700 करोड़ से ज़्यादा के छात्रवृत्ति घोटाले में गीताराम नौटियाल की अग्रिम ज़मानत याचिका खारिज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 7:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...