थ्री नॉट थ्री रायफल आज भी उत्तराखंड पुलिस की पहली पसंद

Avnish Pal | News18 Uttarakhand
Updated: August 17, 2019, 12:10 PM IST

उत्तराखंड पुलिस की आज भी पहली पसंद थ्री नॉट थ्री रायफल बनी हुई है. इसका इस्तेमाल सबसे पहले 1945 में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान हुआ था.

  • Share this:
उत्तराखंड पुलिस की आज भी पहली पसंद थ्री नॉट थ्री रायफल बनी हुई है. थ्री नॉट थ्री रायफल वर्ष 1904 में आई थी जिसका इस्तेमाल सबसे पहले 1945 में दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान हुआ था. इस युद्ध में शानदार सफलता के बाद से ही 303 रायफल ने अपनी शानदार पहचान बनाई. हालांकि बदलते समय और जरूरत के अनुसार मौजूदा समय में कई हाईटेक हथियार बने लेकिन जानकार आज भी थ्री नॉट थ्री पर ही पूरा भरोसा जताते हैं.

नये जमाने की चुनौतियों से निपटने के लिए बदले जा रहे हैं हथियार

उत्तराखंड पुलिस में एसआई संजीव शर्मा बताते हैं कि बदलते समय के साथ सामने आ रही चुनौतियों को देखते हुए हथियारों को बदला जा रहा है. उन्होंने बताया कि उत्तराखंड पुलिस के पास भी पिस्टल, इंसास, एके 47 सहित तमाम ऑटोमैटिक हथियार मौजूद हैं. प्रदेश पुलिस के पास 5145 थ्री नॉट थ्री रॉयल्स भी मौजूद हैं जिन्हें समय के साथ साथ बदला जा रहा है.

नए जमाने की रायफल 303 को पछाड़ नहीं पाए

uttrakhand police-प्रदेश पुलिस
प्रदेश पुलिस के पास 5145 थ्री नॉट थ्री रॉयल्स भी मौजूद हैं जिन्हें समय के साथ साथ बदला जा रहा है.


फ़ाइनल वीओ-भले ही आज के दौर में हाईटेक हथियार सुरक्षा के लिए इस्तेमाल किये जा रहे हो लेकिन दशकों साल पुरानी 20 वी शदी की रायफल थ्री नॉट थ्री आज भी सुरक्षा जवानों के लिए पसंदीदा हथियारों में से एक है क्यूँकि नए ज़माने की रायफल 303 की मारक क्षमता को पछाड़ पाने में कामयाब नहीं हो सके हैं.

थ्री नॉट थ्री की ख़ास बाते....
Loading...

-प्रभावी मारक क्षमता 503 मीटर

-अधिकतम मारक क्षमता 2,743 मीटर है

-303 रायफल का वजन 4 किलो 19 ग्राम

-मजबूत धातु से तैयार की गई रायफल

-बेहतरीन ग्रिप और अचूक निशाना

यह भी पढ़ें: BREAKING : उफनती अलकनंदा में गिरी कार, स्विफ्ट में सवार सभी यात्री बहे

370 हटाने पर मोदी के भाई बोले- 'PM का परिवार भी देश की जनता की तरह खुश'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 9:33 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...