Home /News /uttarakhand /

senior citizens and handicaps demands to resume concession in rail ticket localuk nodark

देहरादून: कोरोना काल के बाद से नहीं मिल रही बुजुर्ग-दिव्यांगों को रेल टिकट में छूट, बहाली की मांग

भारतीय रेलवे द्वारा बुजुर्गों और दिव्यांगजनों को ट्रेन के टिकट पर छूट दी जाती थी, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के बीच इसे बंद कर दिया गया था. वहीं, हालात सुधरने के बाद भी इस रियायत को फिर शुरू नहीं किया गया है. जानें पूरा मामला...

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट-हिना आजमी

देहरादून. कोरोना काल से पहले बुजुर्गों और दिव्यांगजनों को रेल के टिकट (Rail Ticket Concession for Senior Citizen and Handicap) में छूट दी जाती थी, लेकिन कोरोना काल में यह छूट समाप्त कर दी गई. हालात सामान्य होने के बाद भी रेलवे नेबुजुर्ग और दिव्यांगजनों को किराए में रियायत नहीं दी है. जिसको लेकर इस वर्ग में खासा नाराजगी है. उनके साथ-साथ देहरादून के कई समाजसेवी भी टिकट में रियायत को फिर से देने की मांग कर रहे हैं.

85 वर्षीय जगनारायण यादव ने बताया कि कोरोना से पहले उन्हें रेल यात्रा पर आधा टिकट देना पड़ता था, लेकिन कोरोना के बाद से उनसे भी पूरा टिकट लिया जा रहा है. रेलवे को पहले की व्यवस्था फिर से लागू करनी चाहिए. वहीं, 65 वर्षीय गिरधारी लाल ने कहा कि महंगाई बढ़ रही है, हर चीज पर टैक्स बढ़ गया है, किसी पेंशन का सहारा नहीं है. रेल टिकट भी पूरा देना पड़ रहा है. पहले आधा टिकट लगता था लेकिन अब पूरा किराया देना पड़ रहा है. वरिष्ठ नागरिकों को तो रेल टिकट पर छूट मिलनी चाहिए. रेल टिकट पर छूट के हकदार विशेष वर्ग के लोगों के साथ-साथ देहरादून के कई समाजसेवी भी इन्हें टिकट में पूर्व की भांति छूट देने की मांग कर रहे हैं.

रेलवे ने कही ये बात
वहीं, उत्तर रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगजनों के रेल किराए में इसलिए रियायत नहीं दी जा रही है, ताकि लोग बाहर ज्यादा न निकलें, क्योंकि कोरोना संक्रमण का खतरा अभी भी खत्म नहीं हुआ है. रेलवे अधिकारियों का कहना है कि इस छूट पर कोई फैसला रेलवे बोर्ड ही करेगा. भविष्य में जो भी मानक तय होंगे, उनका पालन किया जाएगा.

Tags: Indian Railway news, Nainital news

अगली ख़बर