लाइव टीवी

दून में बना सातवां प्लास्टिक बैंक... डीज़ल बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा प्लास्टिक वेस्ट
Dehradun News in Hindi

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: February 4, 2020, 5:18 PM IST
दून में बना सातवां प्लास्टिक बैंक... डीज़ल बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा प्लास्टिक वेस्ट
प्रेमनगर स्थित डीएवी इंटर कॉलेज में एक प्लास्टिक बैंक स्थापित किया गया है.

एसडीसी फाउंडेशन के सदस्यों ने छात्र-छात्राओं को सिंगल यूज प्लास्टिक कचरे के बारे में जागरूक किया और प्लास्टिक कचरे के जमा करने व रीसाइक्लिंग प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी.

  • Share this:
देहरादून. प्रेमनगर स्थित डीएवी इंटर कॉलेज में एक प्लास्टिक बैंक स्थापित किया गया है. यह देहरादून का सातवां प्लास्टिक बैंक है. प्लास्टिक कचरे के खतरे को रोकने के लिए, सीएससीआर-आईआईपी और एसडीसी फाउंडेशन ने कुछ महीने पहले शहर में प्लास्टिक बैंक स्थापित करने का सिलसिला शुरू किया था. इस बैंक के माध्यम से प्लास्टिक कचरे का स्रोत पर ही पृथकीकरण, घरों और स्थानीय समुदायों में पैदा होने वाले सिंगल यूज़ प्लास्टिक कचरे का संग्रह और रीसाइकिलिंग की सुविधा दी जाती है.

रीसाइक्लिंग के बारे में बताया 

डीएवी इंटर कॉलेज, प्रेम नगर में छठी से 12वीं तक 400 से ज़्यादा छात्र-छात्राएं पढ़ाई कर रहे हैं. स्कूल में प्लास्टिक बैंक स्थापना के मौके पर एसडीसी फाउंडेशन के सदस्यों ने छात्र-छात्राओं को सिंगल यूज प्लास्टिक कचरे के बारे में जागरूक किया और प्लास्टिक कचरे के जमा करने व रीसाइक्लिंग प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी.

फाउंडेशन के कम्युनिटी आउटरीच एसोसिएट प्यारे लाल ने बताया कि आईआईपी 1000 किलो प्लास्टिक कचरे से 800 लीटर डीजल तैयार कर रहा है और एसडीसी फाउंडेशन ने आईआईपी (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ पेट्रोलियम) के इस प्लांट को प्लास्टिक कचरा उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी ली है.

छात्र-छात्राएं उत्सुक 

इन प्लास्टिक बैंकों से दोहरा लाभ हो रहा है. पहला यह कि इससे प्लास्टिक कचरे से मुक्ति मिलेगी और दूसरा यह कि इससे डीज़ल के मामले में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी. उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जताई कि प्लास्टिक बैंक को लेकर आम लोग और छात्र-छात्राएं काफी उत्सुक हैं.

डीएवी इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्या मीना बाला ने कहा कि स्कूल प्लास्टिक बैंक स्थापित किए जाने की सराहना करता है. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारे छात्र और कर्मचारी प्लास्टिक मुक्त भारत के अभियान में सकारात्मक भूमिका निभाएंगे और अपने घर के प्लास्टिक कचरे के निस्तारण के लिए प्लास्टिक बैंक का उपयोग करेंगे.ये भी देखें: 

प्लास्टिक से डीजल का कॉमर्शियल उत्पादन जल्द! प्लांट शुरू कर रहा है IIP

सिंगल यूज़ प्लास्टिक बैन के लिए उत्तराखंड ने कसी कमर, केंद्र से परिभाषा स्पष्ट करने को कहा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 2:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर