यौन शोषण केस: मसूरी का कमरा नंबर 204 बढ़ा सकता है महेश नेगी की मुश्किलें, जानें पूरा मामला

महेश नेगी मुश्किलों में पड़ सकते हैं. (फाइल फोटो)
महेश नेगी मुश्किलों में पड़ सकते हैं. (फाइल फोटो)

महिला की जानकारी पर पुलिस मसूरी (Mussoorie) के एक होटल पहुंची. यहां टीम के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं. 

  • Share this:
देहरादून. विधायक महेश नेगी (Mahesh Negi) के यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग (Blackmailing) मामला लगातार सुर्खियों में है. यौन शोषण मामले में पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं जो अल्मोड़ा विधायक महेश नेगी की मुश्किलों को बढ़ा सकते है. महिला की तहरीर में जिन-जिन स्थानों का जिक्र उसने किया है पुलिस अब उन स्थानों पर क्राइम सीन के साक्ष्य संकलन करने जा रही है. इसी के तहत शनिवार को पुलिस महिला के साथ विधायक महेश नेगी के विधायक निवास में स्थित आवास पर गई तो कमरा बंद मिला. विधायक हॉस्टल के अधिकारियों से पूछताछ के बाद उनसे इंट्री रजिस्टर और सीसीटीवी फुटेज पुलिस को देने की बात कही. उसके बाद पुलिस महिला के साथ मसूरी स्थिति केमटी में उस होटल में पहुंची जहां महिला की तहरीर में जिक्र किया गया है. वहां पुलिस को विधायक के खिलाफ कई अहम सुराग हाथ लगे हैं.

दरअसल, पुलिस मामले में मसूरी क्राइम सीन पर पहुंची और महिला ने तहरीर में जिस होटल का जिक्र किया था उस होटल पर जाकर पुलिस ने कई अहम साक्ष्य विधायक के खिलाफ जुटाए हैं. होटल के रजिस्टर में महिला और महेश नेगी के साथ होना पाया गया है. रजिस्टर में महिला और महेश नेगी के नाम का कमरा भी बुक मिला. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, 1 दिसम्बर 2018 को कमरा नम्बर 212 बुक हुआ था. बाद में कमरा बदल कर रूम नंबर 204 किया गया. इसी कमरे में पहली बार विधायक महेश नेगी ने महिला के साथ यौन शोषण की घटना को अंजाम दिया था. पुलिस टीम ने मौके पर मसूरी स्तिथ होटल के प्रबंधक के ब्यान के साथ साक्ष्य भी संकलन किया.

पुलिस का दावा



अब ऐसे में पुलिस के हाथ कई ऐसे अहम सुराग लगे हैं जो विधायक की मुश्किलों को बढ़ा सकते हैं. मतलब साफ है कि मसूरी स्थित होटल में महिला और विधायक साथ-साथ नजर आए थे. इस बात की पुष्टि पुलिस को जो साक्ष्य मिल है उसमें हुई. आपको बताते चलें कि एक तरफ विधायक महेश नेगी ने महिला पर 5 करोड़ कि ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है, तो दूसरी तरफ महिला ने विधायक पर लंबे समय से यौन शोषण और बलात्कार करने का आरोप लगाया है. साथ ही साथ महिला का कहना था कि महिला की बेटी के पिता खुद महेश नेगी है. लगातार इस मामले में पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है क्योंकि मामला सीधा सत्ताधारी विधायक से जुड़ा है. ऐसे में महिला पहले भी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े कर चुकी है, लेकिन अब पुलिस ने यह साफ कर दिया कि मामले में  कोई भी रसूखदार  नेता ही क्यों ना  हो पुलिस अपना काम बखूबी अंजाम तक पहुंचाएगी और अगर महिला की बातों में सच्चाई है तो निश्चित ही महिला को इंसाफ दिलाएगी.
ये भी पढ़ें: Bihar Assembly Election 2020: कांग्रेस-राजद गठबंधन में दरार! सीट शेयरिंग पर फंसी पेच

राजनीतिक गलियारों में चर्चा

वहीं महिला और विधायक द्वारा होटल में जाने की पुष्टि के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई है. मतलब साफ है कि यही वह कमरा था जहां विधायक और महिला एक साथ रुके थे. अब ऐसे में विधायक पर बलात्कार के आरोप लगे है. हालांकि  बलात्कार के आरोपों की सच्चाई तो पूरी जांच के बाद ही सामने आ पाएगी, लेकिन पुलिस को जो साक्ष्य मिले हैं लाजमी है कि विधायक की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. वहीं एसीपी क्राइम लोकजीत के अनुसार महिला की तहरीर में स्थित जिन भी स्थलों का जिक्र किया गया है पुलिस सभी स्थलों का निरक्षण कर क्राइम शीन से साक्ष्य संकलन करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज