Home /News /uttarakhand /

shri prithvinath mahadev mandir link with mahabharat period guru dronacharya localuk nodark

देहरादून के इस मंदिर का महाभारत काल से जुड़ा है इतिहास, 200 साल पुराने बेल के पेड़ पर हमेशा रहते हैं फल!

Prithvinath Temple Dehradun: देहरादून के पृथ्वीनाथ मंदिर का उल्लेख महाभारत के केदारखंड भाग में है. वहीं, पृथ्वीनाथ मंदिर के पुजारी भगवत पुरी ने बताया कि यह कई बरसों पुराना प्राचीन मंदिर है. यहां दूर-दूर से लोग दर्शन करने आते हैं. इसके अलावा यहां गुरु द्रोणाचार्य ने तपस्‍या भी की थी.

अधिक पढ़ें ...

    (रिपोर्ट-हिना आज़मी)

    देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के पृथ्वीनाथ मंदिर (Prithvinath Temple Dehradun) की काफी मान्यता है. यह मंदिर सहारनपुर चौक पर स्थित है. मंदिर में सुबह-शाम आरती होती है. हर रोज काफी संख्या में भक्त यहां आते हैं. इस मंदिर का इतिहास महाभारत काल से जुड़ा है. गुरु द्रोणाचार्य (Guru Dronacharya) ने टपकेश्वर मंदिर के साथ-साथ यहां भी तपस्या की थी. इस मंदिर में स्वयंभू शिवलिंग भी है.

    देहरादून का प्राचीन नाम द्रोणनगरी था क्योंकि गुरु द्रोणाचार्य यहां काफी वक्त तक रहे थे. पृथ्वीनाथ मंदिर के पुजारी भगवत पुरी ने बताया कि यह कई बरसों पुराना प्राचीन मंदिर है. यहां दूर-दूर से लोग दर्शन करने आते हैं. गुरु द्रोणाचार्य की तपस्या के रूप में देहरादून को एक विशेष पहचान मिली है. मान्यता है कि देहरादून के टपकेश्वर मंदिर में गुरु द्रोणाचार्य ने तपस्या की थी, लेकिन इस मंदिर को भी उनकी साधना का केंद्र माना जाता है. स्वयंभू शिवलिंग के समक्ष सच्चे मन से मांगी गई हर मनोकामना पूरी होती है.

    हर मनोकामना होती है पूर्ण
    मंदिर में दर्शन करने आईं निशा ने कहा, ‘जो शक्ति हमने यहां पाई है, वैसी कहीं नहीं मिली. हमारे चारों धाम यहीं हैं. भोलेनाथ हमें बुलाते रहे.’ मंदिर के सेवादार नकुल गोयल ने कहा कि स्वयंभू शिवलिंग के दर्शन को दूर-दूर से लोग आते हैं. श्रद्धालुओं की सच्चे मन से मांगी गई हर मनोकामना पूर्ण होती है.

    बताते चलें कि पृथ्वीनाथ मंदिर का उल्लेख महाभारत के केदारखंड भाग में है. मंदिर परिसर में करीब 200 साल पुराना एक बेल का पेड़ है, जिसमें सालभर फल आते हैं. इसके अलावा एक पुराना पीपल का वृक्ष भी इस मंदिर की शोभा बढ़ाता है. साल 2002-03 में यहां खुदाई हुई थी, जिसमें एक विशाल हवन कुंड और एक चिमटा मिला था, जिसे लोग महाभारत काल से जुड़ा मानते हैं.

    Prithvinath Temple Dehradun

    Tags: Dehradun Latest News, Mahabharat, Temple

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर