शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में एसआईटी ने जांच की तेज, निदेशालय को भेजी रिपोर्ट

अब तक 32 शिक्षकों के प्रमाण पत्र एवं डिग्रियों की जांच पूरी की जा चुकी है. एसआईटी की जांच इन 32 शिक्षकों के दस्तावेज पूरी तरह फर्जी पाए गए हैं.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 2:53 PM IST
शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में एसआईटी ने जांच की तेज, निदेशालय को भेजी रिपोर्ट
फोटो-ईटीवी
ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2018, 2:53 PM IST
प्रदेश भर के सरकारी विद्यालयों में फर्जी  डिग्री और फर्जी दस्तावेजों के आधार पर  नौकरी पाने वाले शिक्षकों पर एसआई का शिकंजा कसता जा रहा है. मामले की जांच कर रही एसआईटी लगातार शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच में जुटी हुई है. जानकारी के अनुसार अब तक 32 शिक्षकों के प्रमाण पत्र एवं डिग्रियों की जांच पूरी की जा चुकी है. एसआईटी की जांच इन 32 शिक्षकों के दस्तावेज पूरी तरह फर्जी पाए गए हैं.

एसआईटी इंचार्ज श्वेता चौबे के मुताबिक अब तक 32 शिक्षकों के प्रमाण पत्र एवं शैक्षिक डिग्रियां फर्जी पाई गई हैं. इन सभी की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर विभागीय और वैधानिक कार्रवाई के लिए शिक्षा निदेशालय भेजी जा चुकी है.

एसआईटी की ओर से शिक्षा निदेशालय को भेजी गई रिपोर्ट के बाद उन शिक्षकों में हड़कंप मच गया है जिन्होंने फर्जी दस्तावेजों के माध्यम से नौकरी हासिल की थी.

जानकारी के अनुसार अभी भी हजारों की संख्या में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच होना बाकी है. इस सारे घटनाक्रम के सामने आने व जांच में फर्जी पाए गए दस्तावेजों के बाद अब सवाल  शिक्षा निदेशालय पर भी खड़े हो रहे हैं. कई लोगों का आरोप है कि निदेशालय की ओर से दस्तावेजों की बारीकी से जांच की जाती है. उसके बाद भी अगर फर्जी दस्तावेजों के माध्यम से अभ्यर्थी नौकरी पा लेता है तो इसमें विभागीय अधिकारियों की मिलीभत से इनकार नहीं किया जा सकता.

(देहरादून से अवनीश पाल की रिपोर्ट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->