लाइव टीवी

मसूरी की हरियाली को तबाह कर रहे हैं स्वार्थी बिल्डर... वन क्षेत्र में डंप कर रहे मलबा

Sunil Silwal | News18 Uttarakhand
Updated: October 4, 2019, 4:51 PM IST
मसूरी की हरियाली को तबाह कर रहे हैं स्वार्थी बिल्डर... वन क्षेत्र में डंप कर रहे मलबा
मसूरी के अधिकांश वन क्षेत्र में अवैध तरीके से मलबा फेंका जा रहा है जिससे शहर की हरियाली खतरे में पड़ गई है.

अवैध रूप से वन क्षेत्र में मलबा डालने से ख़ूबसूरती पर तो प्रभाव पड़ ही रहा है पर्यावरण पर भी बुरा असर पड़ रहा है.

  • Share this:
मसूरी. पहाड़ों की रानी मसूरी (Mussoorie) अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए देश-दुनिया में प्रसिद्ध है लेकिन इस हिल स्टेशन की खूबसूरती पर ग्रहण लग गया है. शहर के अधिकांश वन क्षेत्र (Forest Area) में अवैध तरीके से मलबा  फेंका जा रहा है जिससे शहर की हरियाली खतरे में पड़ गई है. शहर के हाथी पांव रोड (Hathi Panwan), बारलोगंज (Barloganj), लक्ष्मणपुरी (Laxmanpuri), टिहरी बाइपास (Tehri Bypass), कंपनी गार्डन  (Company Garder), कैंपटी रोड (Kempty Road) सहित कई क्षेत्र में जंगल में बड़े पैमाने पर मलबा धड़ल्ले से मलबा फेंका जा रहा है. शहर के कुछ बिल्डरों की बुरी नजर शहर की खूबसूरती को बर्बाद कर रही है. अवैध रूप से मलबा डालने से ख़ूबसूरती पर तो प्रभाव पड़ ही रहा है पर्यावरण पर भी बुरा असर पड़ रहा है.

बांज-बुरांस सूखने के कगार पर 

स्थानीय प्रशासन और वन विभाग की लापरवाही की कीमत मसूरी को चुकानी पड़ रही है. बिल्डर जगह-जगह जंगल में मलबा फेंक रहे हैं जिससे बांज–बुरांस के छोटे पेड़ों को भारी नुक़सान हो रहा है. इस की मलबे की वजह से कई पेड़ सूखने के कगार पर हैं.

स्थानीय निवासी सूरत सिंह रावत कहते हैं कि पहाड़ों की रानी मसूरी देश दुनिया के पर्यटकों का सबसे पंसदीदा हिल स्टेशन है. हर साल मसूरी की प्राकृतिक खूबसूरती और खुशनुमा मौसम का लुत्फ उठाने के लिए बड़ी संख्या में सैलानी घूमने पहुंचते है लेकिन कुछ बिल्डरों ने शहर की प्राकृतिक खूबसूरती को तबाह करने की ठान ली है.

mussoorie illegal garbage dumping, बिल्डर जगह-जगह जंगल में मलबा फेंक रहे हैं जिससे बांज–बुरांश के छोटे पेड़ों को भारी नुक़सान हो रहा है.
बिल्डर जगह-जगह जंगल में मलबा फेंक रहे हैं जिससे बांज–बुरांश के छोटे पेड़ों को भारी नुक़सान हो रहा है.


सूरत सिंह रावत कहते हैं कि कुछ बिल्डर रात-दिन शहर के वन क्षेत्र में मलबा फेंक रहे हैं. निर्माण कार्यों का मलबा जंगल में फेंका जा रही है. यह जानने के बावजूद वन विभाग हो या स्थानीय प्रशासन अवैध डंपिंग के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई करने को तैयार नहीं है.

रात में भी की जा रही गश्त 
Loading...

सूरी वन प्रभाग के वन क्षेत्राधिकारी वीरेन्द्र सिंह का कहना है कि वन विभाग की टीम लगातार क्षेत्र में गश्त कर रही है. रात्रि गश्त के लिए भी टीम बनाई गई है. जंगल में अवैध तरीके से मलबा फेंकने वालों पर नज़र रखी जा रही है. पकड़े जाते ही उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

वन विभाग के अधिकारी भले ही कड़ी कार्रवाई की बात कर रहे हैं लेकिन जिस तरह बिल्डर अवैध ढंग से मलबा लगातार जंगल में फेंककर मसूरी की हरियाली तबाह कर रहे हैं उससे लगता नहीं कि वन विभाग की चेतावनी का कहीं कोई असर दिखाई दे रहा है.

ये भी देखें: 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 4, 2019, 4:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...