योगी की सख्ती के कारण UP के अपराधियों ने उत्तराखंड में डाला डेरा, कानून व्यवस्था के लिए चुनौती

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक देहरादून के पेट्रोल पंप मालिक गगन भाटिया को गोली मारकर लाखों का कैश लूटने की वारदात में बिजनौर के अपराधी शामिल थे. इसी तरह ऑनलाइन कंपनी के ऑफिस में डकैती करने वालों में सहारनपुर के बदमाश शामिल थे.

News18 Uttarakhand
Updated: July 20, 2019, 9:46 AM IST
योगी की सख्ती के कारण UP के अपराधियों ने उत्तराखंड में डाला डेरा, कानून व्यवस्था के लिए चुनौती
योगी की सख्ती के कारण UP के अपराधियों ने उत्तराखंड में डाला डेरा, कानून व्यवस्था के लिए चुनौती (फाइल फोटो)
News18 Uttarakhand
Updated: July 20, 2019, 9:46 AM IST
उत्तराखंड में आए दिन तमंचों के बल पर लूटपाट, चोरी, चेन स्नेचिंग और डकैती की घटनाएं सामने आ रही हैं. हमेशा से ही शांत माना जाने वाला राज्य उत्तराखंड अब धीरे-धीरे पश्चिमी यूपी के अपराधियों की पनाहगाह बनता जा रहा है. बता दें कि इस दौरान यूपी से आ रहा 'तमंचा क्लचर' उत्तराखंड पुलिस के लिए चिंता का सबब बन गया है. दरअसल, इसका एक कारण यह भी है कि उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद यूपी पुलिस का डंडा वहां सख्त हो गया है. इसी का नतीजा है कि आरोपी अब शांत उत्तराखंड में अपना तांडव मचा रहे हैं.

पश्चिमी यूपी से आ रहे ईनामी अपराधी

लिहाजा, उत्तराखंड में अपराधों में आए अचानक उछाल से पुलिस के माथे पर चिंता लकीरें खींच गई हैं. अपराध को रेकने के लिए उत्तराखंड पुलिस को दोहरा मोर्चा संभालना पड़ रहा है. एक तो पुलिस स्थानीय बदमाशों पर लगाम कस रही है, तो दूसरी तरफ पश्चिमी यूपी से आ रहे ईनामी अपराधियों को रोकना बड़ी चुनौती है.

लूट-loot
पश्चिमी यूपी से आ रहे ईनामी अपराधी (सांकेतिक तस्वीर)


स्थानीय अपराधी पर भी आशंका

उत्तराखंड में पहले भी चेन छीनी जाती रही है, लेकिन किसी भी लूट में तमंचे का इस्तेमाल नहीं किया गया. इस साल दून में तीन वारदातों में चेन स्नेचिंग के लिए तमंचा इस्तेमाल किया गया. इसमें से एक घटना में चेन छीनने के लिए बदमाशों ने महिला पर तमंचे से फायरिंग कर दी थी. पुलिस का मानना है कि अपराध का यह तरीका मूल रूप से पश्चिमी यूपी के अपराधियों का है. उन्होंने कहा कि हालांकि इस बारे में स्थिति अभी साफ होना बाकी है. यह कोई स्थानीय अपराधी भी कर सकता है.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक देहरादून के पेट्रोल पंप मालिक गगन भाटिया को गोली मारकर लाखों का कैश लूटने की वारदात में बिजनौर के अपराधी शामिल थे. इसी तरह ऑनलाइन कंपनी के ऑफिस में डकैती करने वालों में सहारनपुर के बदमाश शामिल थे. इतना ही नहीं क्लेमेंटाउन, नेहरू कॉलोनी और पटेलनगर की चोरी में भी पश्चिमी यूपी के अपराधियों का हाथ था.
Loading...

चेन छीनने और वाहन चोरी में 35 प्रतिशत यूपी के अपराधी शामिल : सर्वे

chain snatching-चेन स्नेचिंग
चेन छीनने और वाहन चोरी में 35 प्रतिशत यूपी के अपराधी शामिल : सर्वे (सांकेतिक तस्वीर)


पुलिस मुख्यालय द्वारा करवाए गए सर्वे में चेन छीनने और वाहन चोरी में 35 प्रतिशत उत्तर प्रदेश के अपराधी शामिल रहते हैं. बाकी के 60 प्रतिशत घटनाओं में स्थानीय बदमाश शामिल रहते हैं. इसके अलावा 5 प्रतिशत में हरियाणा, दिल्ली व अन्य राज्यों के अपराधी शामिल हैं.

महानिदेशक लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने बताया कि पिछले कुछ समय से उत्तराखंड में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अपराधियों की गतिविधियां बढ़ी हैं. हालांकि उन्हें रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.

योगी की नीति से डरकर अपराधी कर रहे उत्तराखंड रुख

क्राइम रिपोर्ट-crime report
योगी की नीति से डरकर अपराधी कर रहे उत्तराखंड रुख (सांकेतिक तस्वीर)


बहरहाल, योगी की अपराधियों के प्रति यह कठोर नीति संगठित अपराधों के साथ ही छोटे-मोटे अपराधियों में भी डर का माहौल पैदा कर दिया है. पुलिस सूत्रों की मानें तो योगी सरकार की इसी नीति से डरकर अपराधी अब उत्तराखंड को अपना डेरा बना रहे हैं. जानकार बताते हैं कि उत्तराखंड पुलिस के नरम रवैये की वजह से भी अपराधी उत्तराखंड को सुरक्षित पनाहगाह मानते हुए इधर का रूख कर रहे हैं. इस कारण स्थानीय गैंग व बाहर से आने वाले गैंग में वर्चस्व की लड़ाई होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें:- खीम सिंह से पूछताछ को लखनऊ पहुंची उत्तराखंड पुलिस 

ये भी पढ़ें:- 'गरुड़ गंगा के पत्थर घिसकर, पानी सारे अस्पतालों में दें CM'
First published: July 20, 2019, 9:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...