अपना शहर चुनें

States

सल्ट विधानसभा पर दिवंगत विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के भाई ने दावा ठोका... पार्टी अध्यक्ष से की मुलाकात

महेश जीना ने बुधवार को देहरादून में पार्टी अध्यक्ष बंशीधर भगत से मुलाकात की और उपचुनाव लड़ने की इच्छा जताई.
महेश जीना ने बुधवार को देहरादून में पार्टी अध्यक्ष बंशीधर भगत से मुलाकात की और उपचुनाव लड़ने की इच्छा जताई.

सल्ट विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह जीना का नवंबर में कोरोना के कारण निधन हो गया था.

  • Share this:
देहरादून. कोरोना का शिकार होकर बीते नवंबर में अपनी जान गंवाने वाले सल्ट के युवा विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के उत्तराधिकार की लड़ाई शुरु हो गई है. सुरेंद्र सिंह जीना के निधन से खाली हुई सल्ट विधानसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं. जीना के बडे भाई महेश जीना अपने भाई की विरासत को आगे ले जाना चाहते हैं. उन्होंने यह भी संकेत दे दिए कि अगर बीजेपी उन्हें टिकट नहीं देती है तो वह मैदान में उतर सकते हैं. दूसरी तरफ़ कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की सलाह को दरकिनार कर उपचुनाव लड़ने की तैयारियां शुरू कर दी हैं.

टिकट न भी मिला तो...

बता दें कि सल्ट विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह जीना का नवंबर में कोरोना के कारण निधन हो गया था. इसके बाद से ही सल्ट में उपचुनाव को लेकर सियासत तेज हो गई थी. अब दिवंगत विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के बड़े भाई महेश जीना ने खुलकर चुनाव लड़ने की इच्छा ज़ाहिर कर दी है.



जीना ने बुधवार को देहरादून में पार्टी अध्यक्ष बंशीधर भगत से मुलाकात की और उपचुनाव लड़ने की इच्छा जताई. जीना ने कहा कि वह अपने भाई की विरासत को आगे बढ़ाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि पार्टी अगर टिकट नहीं भी देगी तो वे सल्ट की जनता के विकास को काम करते रहना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि भाई के क्षेत्र के विकास का जो सपना था वह उसे पूरा करना चाहते हैं.
भावुकता में दिया था हरीश रावत ने बयान 

इधर, कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत की सलाह को दरकिनार कर चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू कर दी है. हरीश रावत ने कहा था कि वह चाहते हैं कि सल्ट विधानसभा  का उपचुनाव स्वर्गीय जीना को समर्पित कर दिया जाए यानी बीजेपी को वॉकओवर दे दियाजाए.

कांग्रेस हरीश रावत के मत से सहमत नज़र नहीं आई रही. सदन में पार्टी के उपनेता करन माहरा का कहना है कि हरीश रावत का वो बयान भावुकता में दिया गया बयान था. कांग्रेस पूरे दमखम के साथ उपचुनाव लडे़गी और जीतेगी भी.

करीब 95 हजार वोटर्स वाली अल्मोडा जिले की सल्ट विधानसभा सीट से सुरेंद्र सिंह जीना लगातार दूसरी बार विधायक बने थे. सल्ट से पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता रणजीत रावत भी इस सीट पर अपने पुत्र के लिए नज़रें गड़ाएं हुए हैं. कांग्रेस से कौन दावेदार होगा यह तो साफ नहीं लेकिन बीजेपी से तस्वीर अब लगभग साफ हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज