Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    फेस्टिव सीजन मिठाइयां भी देंगी Corona से बचाव की सीख, दो गज दूरी, मास्क है जरूरी

    इस त्योहारी सीज़न जब आप मिठाई खरीदेंगे तो मिठाई के डिब्बे पर आपको कोरोना से जागरूकता के संदेश नज़र आएंगे.
    इस त्योहारी सीज़न जब आप मिठाई खरीदेंगे तो मिठाई के डिब्बे पर आपको कोरोना से जागरूकता के संदेश नज़र आएंगे.

    कोरोना वायरस (COVID-19) के संबंध में जागरूकता फैलाने के मद्देनजर मिठाई के डिब्बों पर जागरूकता संदेश छापने का निर्देश. हलवाई एसोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि डिब्बों में ये संदेश छापने पर बड़े ब्रांड्स ने सहमति जता दी है.

    • Share this:
    देहरादून. इस त्योहारी सीज़न जब आप मिठाई खरीदेंगे तो मिठाई के डिब्बे पर आपको कोरोना (COVID-19) से जागरूकता के संदेश नज़र आएंगे. देहरादून में अब मिठाई के डिब्बों में कोरोना अवेयरनेस के स्लोगन लिखवाए जा रहे हैं. ज़िला प्रशासन का कहना है कि इस फ़ेस्टिव सीज़न में लोग त्यौहार के उत्साह में कोविड-प्रोटोकॉल न भूल जाएं इसलिए मिठाई के डिब्बों में यह स्लोगन लिखवाया जा रहा है... 'दो गज की दूरी, मास्क है ज़रूरी'. इसके अलावा 'जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं' भी आपको मिठाई के डिब्बों पर लिखा मिलेगा.

    ज़िला खाद्य सुरक्षा अधिकारी गणेश कंडवाल ने बताया कि हलवाई एसोसिएशन के अध्यक्ष आनंद गुप्ता को इसके बारे में बता दिया गया है. हलवाई एसोसिएशन के अध्य्क्ष का कहना है कि कुछ डिब्बे प्रिंट हो गए थे जिनमें ये संदेश लिखने रह गए थे. अब कोरोना वायरस के संबंध में जागरूकता फैलाने के मद्देनजर दोबारा से डिब्बों में ये संदेश छापने को बोला गया है. बड़े ब्रांड्स ने इस पर सहमति जता दी है.

    हालांकि मिठाई निर्माता या हलवाई सभी निर्देशों, आदेशों का पालन कर रहे हों ऐसा भी नहीं है. नवंबर से लोगों को जागरूक करने के लिए एफएसएसआई ने देशभर में सभी मिठाई की दुकानों में मैन्युफैक्चरिंग और बेस्ट बिफोर डेट लिखना अनिवार्य किया था. लेकिन देहरादून में बड़े ब्रांड्स को छोड़कर मिठाई की दुकानों में इस नियम का पालन नहीं हो रहा.

    जिन अधिकारियों पर इन नियमों के पालन की ज़िम्मेदारी है वह भी इन दुकानों में नहीं जा रहे. ज़्यादातर हलवाई की दुकानों में आपको न कोई बेस्ट बिफ़ोर डेट नज़र आएगी न मैन्युफ़ैक्चरिंग डेट. पूछने पर कोई दुकानदार चुप्पी साध लेता है तो कोई जानकारी न होने की बात कहता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज