उत्तराखंडः चारधाम यात्रा के दौरान अब श्रद्धालुओं की गाइड बनेगी पुलिस, जवानों को दी जाएगी ट्रेनिंग

मामले में डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग का कहना है कि महा कुम्भ के समाप्ति के बाद चार धाम यात्रा पर फोकस किया जायेगा.

मामले में डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग का कहना है कि महा कुम्भ के समाप्ति के बाद चार धाम यात्रा पर फोकस किया जायेगा.

Uttarakhand Chardham Yatra: उत्तराखंड में मई से शुरू होने वाली चार धाम यात्रा के लिए पुलिस ने बनाई योजना. श्रद्धालुओं से पुलिसवालों की नोक-झोंक और विवाद कम करने के लिए डीआईजी गढ़वाल ने जवानों को ट्रेनिंग देने का बनाया प्लान.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है. इस बार की यात्रा के दौरान पुलिस से श्रद्धालुओं को बड़ी सुविधा मिलेगी. यात्रा में पुलिस श्रद्धालुओं की मदद तो करेगी ही साथ ही सभी को टूरिस्ट गाइड (Tourist Guide) की तर्ज पर गाइड भी करेगी. दरअसल, चारधाम यात्रा के दौरान पुलिस और यात्रियों के बीच नोक झोंक के कई मामले अक्सर सामने आते हैं. ऐसे में उत्तराखंड की मित्र पुलिस पर कई सवाल भी उठते रहे हैं. यही वजह है कि डीआईजी गढ़वाल (DIG Garhwal) ने अब पुलिस जवानों को ट्रेनिंग देने का फैसला लिया है. इस ट्रेनिंग में पुलिस जवान यात्रियों के साथ अच्छे व्यवहार के साथ जवानों के पास एक टैबलेट बुक भी देगी, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

आपको बता दें कि मई महीने से चार धाम यात्रा शुरू होने जा रही है. इस यात्रा में पहली बार पुलिस गाइड का भी काम करेगी, जिसके लिए रेंज स्तर पर ट्रेनिंग प्रोग्राम चलाया जाएगा. इसके तहत पुलिस के जवानों को टूरिस्टों के साथ कैसा व्यवहार किया जाए, टूरिस्ट को कैसे गाइड किया जाए, इसकी जानकारी दी जाएगी. दो दिनों के ऑनलाइन कोर्स में पुलिस जवानों को बर्ताव और एरिया की जानकारी भी दी जाएगी. जिससे पुलिस आने वाले यात्रियों को इलाके में स्थित अन्य टूरिस्ट पैलेश की जानकारी भी दे सकेगी. साथ ही इन जवानों को टैबलेट बुक भी उपलब्ध करवाया जाएगा, जिससे वह श्रद्धालुओं को सही तरीके से गाइड कर सकेंगे. साथ ही चार धाम के अलावा अन्य पर्यटक स्थलों की जानकारी दे सकेंगे. पुलिस का मानना है कि इससे राज्य में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा.

चार धाम यात्रा पर फोकस

डीआईजी गढ़वाल नीरू गर्ग का कहना है कि महाकुम्भ की समाप्ति के बाद चार धाम यात्रा पर फोकस किया जाएगा. कुम्भ डयूटी से फ्री हुए जवानों को ट्रेनिंग दी जाएगी कि कैसे आने वाले यात्रियों से व्यवहार रखें. साथ ही सभी जवानों को एक मैपिंग टैबलेट दिया जाएगा, जिसमें चार धाम के अलावा अन्य पर्यटक स्थलों की सभी जानकारी रहेगी. इस टैबलेट में हर वो जानकारी होगी जिसकी जरूरत पर्यटकों को यात्रा के दौरान होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज