अपना शहर चुनें

States

राजाजी टाइगर रिज़र्व में गोश्त भून रहे थे पर्यटक... तस्वीरें वायरल होने के बाद वन मंत्री ने दिए जांच के आदेश

ये तस्वीरें वायरल होने के बाद उत्तराखंड में वन विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं
ये तस्वीरें वायरल होने के बाद उत्तराखंड में वन विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं

यह घटना बताती है कि पार्क में कभी भी, कोई भी घुस सकता है और कुछ भी कर सकता है.

  • Share this:
देहरादून. राजाजी टाइगर रिजर्व से बड़ी खबर है. पार्क में तमाम मानकों को ताक पर रखकर वन्यजीवों  की सुरक्षा से खिलवाड़ किए जाने का मामला सामने आया है. राजाजी टाइगर रिजर्व में कोई भी बिना परमिशन प्रवेश नहीं कर सकता. पार्क के भीतर कोई भी पर्यटक अपना निजी वाहन नहीं ले जा सकता. इस सबके बावजूद पार्क के कोर ग्रुप एरिया बेरीवाड़ा रेंज से बेहद चौंकाने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. यहां कुछ लोग पार्क के भीतर अपनी निजी गाड़ी थार से घूम रहे हैं तो  बेरीवाड़ा स्थित रेस्ट हाउस में पिकनिक मनाया जा रहा है. एक तस्वीर में ये पर्यटक एक बड़े भगौने में मांस भूनते दिख रहे हैं जबकि पार्क के भीतर मांस बनाना पूरी तरह प्रतिबंधित है.

प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसे कैसे?

ये तस्वीरें वायरल होने के बाद उत्तराखंड में वन विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. पूछा जा रहा है कि आखिर तमाम नियम कानूनों को धता बताकर राजाजी टाइगर रिज़र्व जैसे संवेदनशील क्षेत्र में प्राइवेट गाड़ी से ये पर्यटक घुस कैसे गए?



इससे भी बड़ा सवाल कि पार्क के भीतर चूल्हा लगाकर वहां खाना और खासतौर पर मांस बनाने की इजाज़त इन्हें कैसे मिल गई? जाहिर सी बात है पर्यटक कोई चोरी छुपे तो घुसा नहीं होगा. पार्क के अधिकारियों की मिलीभगत से ही जंगल में मंगल हुआ होगा.
जांच के आदेश 

यह सब ऐसे समय में हुआ है जबकि राजाजी टाइगर रिज़र्व से एक बाघिन गायब चल रही हो. यह घटना बताती है कि पार्क में कभी भी, कोई भी घुस सकता है और कुछ भी कर सकता है. सरंक्षित वन क्षेत्र बाघिन का क्या हुआ होगा, इस पर जताई जा रही आशंकाएं अब बलवती हो गई हैं.

party in corbett, जाहिर सी बात है पर्यटक कोई चोरी छुपे तो घुसा नहीं होगा. पार्क के अधिकारियों की मिलीभगत से ही जंगल में मंगल हुआ होगा.
जाहिर सी बात है पर्यटक कोई चोरी छुपे तो घुसा नहीं होगा. पार्क के अधिकारियों की मिलीभगत से ही जंगल में मंगल हुआ होगा.




ये तस्वीरें वायरल होने के बाद अधिकारियों में हड़कंप मच गया है. वन मंत्री हरक सिंह रावत ने चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन जेएस सुहाग को मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

बता दें कि कुछ दिन पहले इसी तरह वन विभाग का एक अधिकारी बिना डायरेक्टर की अनुमति के मंत्री के काफ़िले को पार्क के अंदर ले गया था. बताया जा रहा है कि इसमें मंत्री समेत उनके काफिले में शामिल तीन गाड़ियां शामिल थीं.

सफ़ाई

राजाजी टाइगर रिजर्व की बेरी वाला रेंज में कथित रूप से मांस बनाते और प्राइवेट कार से घूमते हुए फोटो वायरल होने के बाद राजाजी टाइगर रिजर्व प्रशासन ने संबंधित व्यक्ति को खोज लिया है. फोटो में नजर आ रहे व्यक्ति हैं देवेंद्र पासी मोंटी. मोंटी देहरादून के रेसकोर्स से पार्षद हैं.

मोंटी का कहना है कि जो फोटो वायरल हो रही हैं उनमें गलत जानकारी दी गई है. उन्होंने प्राइवेट गाड़ी पार्क के बाहर ही छोड़ दी थी. पार्क में वह बस के ज़रिये परमिशन के साथ गए थे. मोंटी ने पार्क के अंदर मांस बनाने की बात से भी इनकार किया है. उन्होंने कहा कि जो बनाया जा रहा है मांस नहीं, शाकाहारी व्यंजन है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज