जनता के विश्वास को कायम रखने का प्रयास कियाः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला
Dehradun News in Hindi

जनता के विश्वास को कायम रखने का प्रयास कियाः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला
देहरादून में पीठासीन अधिकारियों का 79वें सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद सत्र को संबोधित करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने 19 जून, 2019 को दायित्व सम्भाला था और उनकी कोशिश रही है कि सभी संसद सदस्यों को विश्वास में लेकर संसद चलाया जाए.

लोकसभा अध्यक्ष ने बताया कि संसद का पहला सत्र 37 दिन चला और इसमें 35 विधेयक पास हुए. 37 दिन में एक भी दिन सदन की कार्यवाही स्थगित नहीं हुई.

  • Share this:
देहरादून. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) कहा है कि लोकसभा और विधानसभा लोकतंत्र के पवित्र मंदिर हैं. यहां डिस्कस हो, डिबेट हो लेकिन डिस्ट्रक्शन नहीं होना चाहिए. देहरादून में पीठासीन अधिकारियों का 79वें सम्मेलन (79th speaker of presiding officers of India) का उद्घाटन करने के बाद सत्र को संबोधित करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने 19 जून, 2019 को दायित्व सम्भाला था और उनकी कोशिश रही है कि सभी संसद सदस्यों को विश्वास में लेकर संसद चलाया जाए. उन्होंने बताया कि संसद का पहला सत्र 37 दिन चला और इसमें 35 विधेयक पास हुए. 37 दिन में एक भी दिन सदन की कार्यवाही स्थगित नहीं हुई. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि हमने जनता के विश्वास को कायम रखने का प्रयास किया.

दो दिन तक चलेगा सम्मेलन 

बता दें कि उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी देहरादून में दो दिन तक चलने वाले सम्मेलन के तहत संविधान की दसवीं अनुसूची और अध्यक्ष की भूमिका पर चर्चा होगी. इसके साथ ही में राज्यसभा के उपसभापति और 21 राज्यों के विधानसभा अध्यक्ष, 13 विधानसभा उपाध्यक्ष, 4 विधान परिषद सभापति और एक उपसभापति शून्य काल सहित सदन के अन्य साधनों के माध्यम से संसदीय लोकतंत्र के सुदृढ़ीकरण और क्षमता निर्माण समेत संसदीय कार्य प्रणाली की बेहतरी के लिए विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे.



सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में मौजूद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हमें और खासकर संसद और विधानसभाओं को पेपरलेस वर्क कल्चर की ओर बढ़ना चाहिए. उत्तराखंड सरकार इस दिशा में प्रयास कर रही है और अगले महीने कैबिनेट की बैठक पेपरलेस होने जा रही है.
सांसद, मंत्री भी रहे मौजूद 

इससे पूर्व सम्मेलन स्थल पर पहुंचे लोकसभा स्पीकर वर्तमान राज्यों के विधानसभा अध्यक्षों का लोक नृत्य ढोल नृत्य के साथ स्वागत किया गया उत्तराखंड पुलिस ने लोकसभा स्पीकर को गार्ड ऑफ ऑनर दिया उसके पास उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने सभी अतिथियों को पहाड़ी टोपी पहनाकर सम्मानित किया.

इस मौके पर उत्तराखंड के सांसद अजय भट्ट, तीरथ सिंह रावत, माला राज्य लक्ष्मी के साथ उत्तराखंड सरकार के कई विधायक और मंत्री भी मौजूद रहे.

ये भी देखें: 

पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलनः छोलिया नृत्य से हुआ मेहमानों का स्वागत

BDC सदस्यों ने DM से की अपने वोट निरस्त करने की मांग, ब्लॉक प्रमुख पर धमकाने का आरोप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading