Home /News /uttarakhand /

कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो बेटे शहीद, आज घर पहुंचेंगे पार्थिव शरीर, परिवारों में मातम

कश्मीर में आतंकी मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो बेटे शहीद, आज घर पहुंचेंगे पार्थिव शरीर, परिवारों में मातम

शहीद जवान विक्रम नेगी और योगंबर सिंह. (Image:Twitter)

शहीद जवान विक्रम नेगी और योगंबर सिंह. (Image:Twitter)

Pride of Uttarakhand : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ ही भारतीय आर्मी चीफ समेत सेना के कई अफसरों ने राइफलमैन विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह को श्रद्धांजलि दी. दोनों ही शहीदों के परिवारों के आंसू थम नहीं पा रहे हैं.

    देहरादून. जैसे ही आर्मी के दो जवानों विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह के शहीद होने की खबर उत्तराखंड स्थित उनके घर पहुंची तो परिवारों को विश्वास ही नहीं हुआ. परिजन अब तक सदमे में हैं और यह भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं कि शनिवार दोपहर बाद उनके जवान बेटों का पार्थिव शरीर घर पहुंचने वाले हैं. जम्मू कश्मीर के पुंछ ज़िले में आतंकवादियों से मुठभेड़ के लिए चलाए गए सेना के एक अभियान में नरखास इलाके में दोनों जवानों विक्रम सिंह नेगी और योगंबर सिंह की मौत हुई. 26 वर्षीय नेगी विमान गांव और 27 वर्षीय सिंह सांकरी गांव के रहने वाले थे.

    खबरों की मानें तो एक महीने की छुट्टी के बाद जुलाई में इस पोस्टिंग पर पहुंचे सिंह अपने पीछे पत्नी, एक साल के बेटे सहित अपने माता पिता को छोड़ गए हैं और पूरा परिवार अब तक सदमे में है. चमोली ज़िले के सांकरी गांव के वासुदेव सिंह के हवाले से टीएनईआई ने लिखा, ‘मुझे नहीं पता कि मैं कैसे परिवार को सांत्वना दे सकूंगा.’ इसी तरह नेगी के परिजनों के बीच भी मातम पसरा हुआ है.

    uttarakhand news, uttarakhand soldier, terrorist attack, terrorists encounter, terrorism in kashmir, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड शहीद, आतंकी हमला

    उत्तराखंड के शहीदों को सेना ने श्रद्धांजलि देने संबंधी ट्वीट किया.

    नेगी के परिजन सुरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि पांच साल पहले नेगी ने आर्मी जॉइन की थी. ‘उसके सामने अभी पूरी ज़िंदगी पड़ी थी… यह इंसाफ नहीं है कि आतंकवाद की वजह से हमारे नौजवान बच्चों की जीवनलीला खत्म हो जाए.’ मौत की खबर को सुनने के बाद नेगी के परिवार में उनकी पत्नी बिरजा देवी और 95 वर्षीय दादी रुकमा देवी की हालत काफी खराब बताई जा रही है. नेगी अपने पीछे 18 महीने के बेटे को भी छोड़ गए हैं.

    सेना और सीएम ने दी जांबाज़ों को श्रद्धांजलि
    भारतीय आर्मी के अतिरिक्त महानिदेशक की ओर से ट्विटर पर कहा गया कि जनरल एमएम नरावणे और तमाम रैंक्स ने दोनों शहीद जांबाज़ों को सलामी देकर श्रद्धांजलि दी और शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं. वहीं, उत्तरी कमांड ने ट्वीट किया कि लेफ्टिनेंट जनरल वायके जोशी ने दोनों वीरों को श्रद्धांजलि दी. इधर, ट्विटर पर उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, उत्तराखंड के वीरों के सर्वोच्च बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता.

    Tags: Jawan martyr, Martyred Jawan, Poonch encounter, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर