लाइव टीवी

उमेश शर्मा काऊ ने दिया बीजेपी के कारण बताओ नोटिस का जवाब, शिकायत पत्र भी साथ सौंपा

Sunil Navprabhat | News18 Uttarakhand
Updated: October 9, 2019, 2:14 PM IST
उमेश शर्मा काऊ ने दिया बीजेपी के कारण बताओ नोटिस का जवाब, शिकायत पत्र भी साथ सौंपा
BJP MLA उमेश शर्मा काऊ ने नोटिस की अवधि 3 दिन के अंदर अपना जवाब पार्टी को सौंप दिया है.

उमेश शर्मा काऊ (Umesh Sharma Kau) ने कहा कि यह परिवार (बीजेपी) का व्यक्तिगत मामला है. उन्होंने कहा, “मुझे कुछ लगेगा तो पूछूंगा और पार्टी को कुछ लगेगा तो जवाब भी दूंगा.”

  • Share this:
देहरादून. पंचायत चुनाव (Panchayat Elections) में पार्टी प्रत्याशी के विरुद्ध चुनाव प्रचार करने के आरोपों से घिरे रायपुर के बीजेपी विधायक (Raipur BJP MLA) उमेश शर्मा काऊ (Umesh Sharma Kau) पार्टी के सख्त रुख के बाद बैकफ़ुट पर आ गए हैं. बीजेपी ने एक ऑडियो वायरल (Viral Audio) होने के बाद और पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के बाद उमेश शर्मा काऊ को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. काऊ ने नोटिस की अवधि 3 दिन के अंदर अपना जवाब पार्टी को सौंप दिया है. इसके साथ ही काऊ ने पार्टी को एक शिकायती पत्र भी सौंपा है. माना जा रहा है कि इससे बीजेपी में बवाल बढ़ सकता है.

वायरल ऑडियो और शिकायत

बता दें कि देहरादून ज़िले की ‘अस्थल’ ज़िला पंचायत सदस्य सीट पर बीजेपी प्रत्याशी बीर सिंह चौहान ने आरोप लगाया था कि रायपुर और मसूरी विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाली इस सीट पर उन्हें पर्याप्त समर्थन नहीं मिल रहा है. चौहान ने स्पष्ट शब्दों में रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ पर विरोधी प्रत्याशी का समर्थन करने का आरोप लगाया था.

चौहान ने बाकायदा काऊ की शिकायत बीजेपी संगठन को भी की थी. संगठन के अलावा चौहान ने मुख्यमंत्री को भी शिकायत की थी. उन्होंने पार्टी संगठन को एक ऑडियो क्लिप भी सौंपी थी जिसमें कथित रूप से काऊ अपने समर्थकों से किसी और प्रत्याशी को जिताने के लिए वोट देने की मांग कर रहे थे.

नोटिस और जवाब

बीजेपी ने इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए काऊ को 6 अक्टूबर को कारण नोटिस जारी कर दिया था और तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा था. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने यह भी कहा था कि पार्ट के ख़िलाफ़ काम करने वाला चाहे कितना भी बड़ा नेता क्यों न हो उसके ख़िलाफ़ पार्टी सख़्त कार्रवाई करेगी. उमेश शर्मा काऊ इस मामले पर टिप्पणी करने से बचते रहे हैं.

आज काऊ ने कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है. सूत्र बता रहे हैं कि स्पष्टीकरण के साथ ही रायपुर विधायक ने शिकायती पत्र भी दिया है. बीजेपी कार्यालय में काऊ ने कार्यालय प्रभारी पार्टी महामंत्री खजानदास को बंद लिफ़ाफ़े में अपना जवाब और शिकायती पत्र सौंपा. उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष को भी पत्र भेजे हैं.
Loading...

षड्यंत्र

सूत्रों के अऩुसार विधायक ने अपने स्पष्टीकरण में ऑडियो क्लिप में छेड़छाड़ होने की बात कही है और एक षड्यंत्र के तहत काम न करने देने का आरोप लगाया है. इस बारे में पूछे जाने पर उमेश शर्मा काऊ ने कहा कि यह परिवार (बीजेपी) का व्यक्तिगत मामला है. उन्होंने कहा, “मुझे कुछ लगेगा तो पूछूंगा और पार्टी को कुछ लगेगा तो जवाब भी दूंगा.”

बता दें कि उमेश शर्मा काऊ 2016 में कांग्रेस की हरीश रावत सरकार छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले 9 विधायकों में शामिल थे. उनका नाम पार्टी की रैलियों में सबसे ज़्यादा भीड़ जुटाने वाले नेताओं में शामिल है. रायपुर क्षेत्र में उनकी अच्छी पकड़ भी मानी जाती है.

ये भी देखें: 

BJP प्रत्याशी का आरोप- हराने के लिए काम कर रहे हैं MLA काऊ, संगठन में की शिकायत

उत्तराखंड पंचायत चुनावः पार्टी समर्थित प्रत्याशियों का विरोध करने वाले MLA भी बीजेपी के राडार पर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 2:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...