लाइव टीवी

कुंभ क्षेत्र में अंडरग्राउंड केबलिंग का काम ढीला, UPCL की चेतावनी के बावजूद नहीं सुधर रही काम करने वाली कंपनी  

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: November 6, 2019, 7:16 PM IST
कुंभ क्षेत्र में अंडरग्राउंड केबलिंग का काम ढीला, UPCL की चेतावनी के बावजूद नहीं सुधर रही काम करने वाली कंपनी  
हरिद्वार कुंभ क्षेत्र में कुंभ से पहले बिजली लाइनों को अंडरग्राउंड किया जाना है लेकिन यह काम अपेक्षित रफ़्तार से नहीं चल पा रहा और इसलिए यूपीसीएल की पेशानी पर बल पड़ गए हैं.

मार्च 2019 में शुरू हुए कार्य को जून 2020 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है लेकिन अक्तूबर 2019 तक 20 फ़ीसदी काम भी पूरा नहीं हुआ है.

  • Share this:
देहरादून. हरिद्वार कुंभ क्षेत्र (Haridwar Kumbh Area) में कुंभ से पहले बिजली लाइनों को अंडरग्राउंड (Electricity Lines Underground) किया जाना है लेकिन यह काम अपेक्षित रफ़्तार से नहीं चल पा रहा और इसलिए यूपीसीएल (UPCL) की पेशानी पर बल पड़ गए हैं. दरअसल यूपीसीएल (उत्तराखंड पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड) पर इस कार्य को करवाने का ज़िम्मा है. काम गुणवत्ता की कमी और धीमी गति से काम होने की शिकायतों के बाद यूपीसीएल ने काम करने वाली कंपनी को नोटिस भी जारी कर दिया है लेकिन इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ा है.

20% भी काम पूरा नहीं 

हरिद्वार में साल 2021 की शुरुआत में ही महाकुम्भ का आयोजन होना है. कुंभ क्षेत्र में बिजली की चाक-चौबंद व्यवस्था के तहत 33केवी, 11केवी लाइनों के साथ ही घरेलू बिजली लाइन को अंडर ग्राउंड किया जाना है ताकि बिजली की तारों का मकड़जाल मेले के दौरान परेशानियां न पैदा न करे और मेला क्षेत्र की खूबसूरती भी बढ़े.

underground cabeling in haridwar kumbh area, बिजली केबल की अंडरग्राउंडिंग का काम बिरला ग्रुप की विंध्या टेलीलिंक्स लिमिटेड कंपनी को दिया गया है.
बिजली केबल की अंडरग्राउंडिंग का काम बिरला ग्रुप की विंध्या टेलीलिंक्स लिमिटेड कंपनी को दिया गया है.


केंद्र सरकार ने इसके लिए 274 करोड़ रुपये यूपीसीएल को आवंटित भी कर दिए हैं. बिजली केबल की अंडरग्राउंडिंग का काम बिरला ग्रुप की विंध्या टेलीलिंक्स लिमिटेड कंपनी को दिया गया है. मार्च 2019 में शुरू हुए कार्य को जून 2020 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है लेकिन अक्तूबर 2019 तक 20 फ़ीसदी काम भी पूरा नहीं हुआ है.

मौका मुआयना कर MD ने जारी किया नोटिस 

कंपनी की धीमी चाल ने निगम अधिकारियों के माथे पर बल डाल दिया है. मौका निरीक्षण के बाद यूपीसीएल के प्रबंध निदेशक बीसीके मिश्रा ने कार्यदायी कंपनी को नोटिस जारी कर काम की गति बढ़ाने के लिए कहा है. लेकिन इसके बाद भी काम में तेजी आती नहीं दिख रही है. कंपनी पर घटिया केबल बिछाने का भी आरोप है.
Loading...

BCK MISRA, मौका निरीक्षण के बाद यूपीसीएल के प्रबंध निदेशक बीसीके मिश्रा ने कार्यदायी कंपनी को नोटिस जारी कर काम की गति बढ़ाने के लिए कहा है.
मौका निरीक्षण के बाद यूपीसीएल के प्रबंध निदेशक बीसीके मिश्रा ने कार्यदायी कंपनी को नोटिस जारी कर काम की गति बढ़ाने के लिए कहा है.


यूपीसीएल के एमडी बीसीके मिश्रा ने न्यूज़ 18 से कहा कि नोटिस जारी करने के बावजूद अगर कंपनी ठीक से काम नहीं करती तो जल्द एक्शन लिया जाएगा. उन्होंने यह भी बताया कि इस बारे में शासन को सूचना दे दी गई है और अब शासन के स्तर से भी कार्रवाई की जानी संभव है.

ये भी देखें: 

कांवड़ मेले के सहारे 'कुंभ 2021' की तैयारी परखेगा हरिद्वार, ऐसा है प्‍लान

हरिद्वार में महाकुंभ 2021 की तैयारियों में लगा ब्रेक, केंद्र ने नहीं रिलीज की अब तक कोई धनराशि

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 7:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...