पूरी होगी बरसों पुरानी मांग, उत्तराखंड को मिलेगा ग्रीन बोनस तोहफ़ा!

बजट से उम्मीदों पर सीएम ने कहा कि उम्मीद है कि बजट उत्तराखंड के लिए अच्छा साबित होगा.

News18 Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 10:48 AM IST
पूरी होगी बरसों पुरानी मांग, उत्तराखंड को मिलेगा ग्रीन बोनस तोहफ़ा!
उत्तराखंड के 71 फ़ीसदी भू-भाग पर जंगल हैं और इसी के आधार पर सरकार ग्रीन बोनस की मांग कर रही है.
News18 Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 10:48 AM IST
71 फ़ीसदी वन क्षेत्र वाले उत्तराखंड को ग्रीन बोनस मिलना क्या तय हो गया है? मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की बात पर यकीन करें तो इस पर सैद्धांतिक सहमति पहले ही मिल चुकी थी और अब बजट से राज्य की यह बरसों पुरानी मांग पूरी हो सकती है. हालांकि बजट से उम्मीदों को लेकर न्यूज़ 18 के सवाल का जवाब देते हुए रावत ने साफ़ शब्दों में तो कुछ नहीं कहा. उन्होंने कहा कि सीएम केंद्रीय बजट से हमेशा ही अपेक्षा रहती हैं, उम्मीद है कि बजट उत्तराखंड के लिए अच्छा साबित होगा. लेकिन चंद दिन पहले ग्रीन बोनस की मांग पर सीएम ने कहा कि पर्यावरणीय सेवाओं के बदले उत्तराखंउ को ग्रीन बोनस मिलने की बात का नीति आयोग ने भी समर्थन किया है और इस बारे में सैद्धांतिक सहमति भी बन गई है.

बरसों पुरानी है मांग 

बता दें कि उत्तराखंड अपने वृहद वन क्षेत्र के लिए ग्रीन बोनस की मांग करता रहा है. राज्य सरकार का तर्क रहा है कि अपनी वन संपदा के साथ उत्तराखंड हवा को साफ़ कर देश के ऑक्सीजन टैंक की तरह काम करता है. विशेष भौगोलिक परिस्थितियों के कारण यहां औद्योगिक विकास अन्य राज्यों की तरह संभव नहीं है और इसलिए राज्य को ग्रीन बोनस मिलना चाहिए.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नीति आयोग की बैठक में भी ग्रीन बोनस की मांग को पुरज़ोर ढंग से उठाया था और केंद्र सरकार से मांग की थी कि उत्तराखण्ड को अपनी पर्यावरणीय सेवाओं के लिए प्रोत्साहन के रूप में वित्तीय सहायता मिलनी चाहिए. इसके बाद नीति आयोग ने इस पर सैद्धांतिक सहमति दी थी.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें
First published: July 5, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...