UPCL कर्मियों को कार्य बहिष्कार की सज़ा! 10 तारीख बीती, नहीं मिला वेतन

UPCL के MD कहते हैं कि इस महीने के पहले हफ़्ते में इस पैसे की रिकवरी की गई है तो अब जल्द ही कर्मचारियों को वेतन दे दिया जाएगा.

satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: September 10, 2018, 7:09 PM IST
UPCL कर्मियों को कार्य बहिष्कार की सज़ा! 10 तारीख बीती, नहीं मिला वेतन
file photo
satendra bartwal | News18 Uttarakhand
Updated: September 10, 2018, 7:09 PM IST
ऊर्जा प्रदेश उत्तराखंड में ऊर्जा विभाग के कर्मचारियों को ही वेतन के लाले पड़ गए हैं. 10 तारीख बीतने के बावजूद अब तक कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल पाया है. लेकिन प्रबंधन का कहना है कि ऐसा कर्मचारियों की ग़लती से ही हुआ है और अब जल्द ही कर्मचारियों का वेतन दे दिया जाएगा.

उत्तराखंड पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड यानी यूपीसीएल में बजट के अभाव के चलते इस महीने अब तक कर्मचारियों का वेतन नहीं दिया जा सका है. इसकी वजह से कर्मचारी परेशान हैं तो प्रबंधन ने इसका ठीकरा उन्हीं के सिर फोड़ दिया है. यूपीसीएल के प्रबंध बीसीके मिश्रा कहते हैं कि पिछले महीने यूपीसीएल के कई अभियंता और कर्मचारियों के संयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में 3 दिनों तक विभाग के सभी काउंटर बंद कर दिए गए थे.

मिश्रा के अनुसार इसकी वजह से यूपीसीएल के 60- 70 करोड़ रुपये फंस गए और वह जमा नहीं हो पाए. वह कहते हैं कि इसी पैसे से वेतन का वितरण किया जाता है जो पैसा न आने के कारण नहीं हो सका. मिश्रा बताते हैं कि इस महीने के पहले हफ़्ते में इस पैसे की रिकवरी की गई है तो अब जल्द ही कर्मचारियों को वेतन दे दिया जाएगा.

हालांकि यूपीसीएल अपनी फ़िज़ूलखर्ची की वजह से भी चर्चाओं में रहा है. चाहे ऊर्जा भवन में बनने वाले ग्लास भवन की बात हो या बेवजह महकमे में हो रहे सिविल कार्यों की बात हो. हालत तो यह है कि विभाग के हर निदेशक के चार से पांच गाड़ियां हैं, जिनका खर्च यूपीसीएल ही उठाता है.

ऐसे में इस बात पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल है कि पैसे की कमी की वजह से कर्मचारियों का वेतन रुका हो बल्कि ऐसा लगता है कि कर्मचारियों को सबक सिखाने के लिए ही प्रबंधन ने वेतन रोका है.

UPCL एक महीने में वापस करे अस्थाई कनेक्शन की ज़मानतः विद्युत नियामक आयोग

UPCL में 47 लाख का गबन, अधिशासी अभियंता, अकाउंटेंट निलंबित
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर