होम /न्यूज /उत्तराखंड /खुशखबरी! दून अस्पताल में शुरू हुई यूरोलॉजी ओपीडी, हफ्ते में 2 दिन मरीजों को मिलेंगी सुविधा

खुशखबरी! दून अस्पताल में शुरू हुई यूरोलॉजी ओपीडी, हफ्ते में 2 दिन मरीजों को मिलेंगी सुविधा

दून अस्पताल के सीएमएस डॉ. वाई रिजवी ने कहा कि दून मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल को सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के रूप में विकसित कि ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट- हिना आज़मी

    देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल दून मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के रूप में विकसित किया जा रहा है. इसी कड़ी में अस्पताल में अब यूरोलॉजिस्ट भी उपलब्ध होंगे. अब तक यूरोलॉजी का कोई भी डॉक्टर देहरादून के सरकारी अस्पताल में नहीं था, जिस कारण मरीजों को निजी अस्पताल का रुख करना पड़ता था. हालांकि अब देहरादून के सबसे बड़े अस्पताल में यूरोलॉजिस्ट की नियुक्ति कर दी गई है.

    बता दें कि देहरादून में बड़ी संख्या में गुर्दा, मूत्र और प्रोस्टेट संबंधित बीमारियों से ग्रसित लोगों को इलाज के लिए मुसीबत झेलनी पड़ती थी, लेकिन अब ऐसे मरीजों को राहत मिलने जा रही है. इलाज के लिए दून अस्पताल आए जीएस बिष्ट का कहना है कि देहरादून सहित प्रदेशभर में यूरोलॉजिस्ट की कमी है, जिसके चलते मरीजों को दूसरे राज्यों का रुख करना पड़ता है. अब दून अस्पताल ऐसे मरीजों की परेशानी दूर करने जा रहा है. यह मरीजों के लिए वाकई राहत भरी खबर है.

    दून अस्पताल के सीएमएस डॉ. वाई रिजवी ने कहा कि दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल मरीजों के लिए बेहतर प्रयास करने की कोशिश कर रहा है. अस्पताल को सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के रूप में विकसित किया जा रहा है, ताकि एक ही छत के नीचे सभी मरीजों का इलाज किया जा सके. उन्होंने जानकारी दी है कि AIIMS सहित कई बड़े चिकित्सा संस्थानों में सेवा दे चुके वरिष्ठ डॉक्टर मनोज विश्वास ने यहां ज्‍वाइन किया है. ऐसे में यूरोलॉजी की ओपीडी हफ्ते में दो दिन सोमवार और गुरुवार को होगी. इसके अलावा अस्पताल में ओपन सर्जरी भी शुरू कर दी गई है.

    सीएमएस ने जानकारी दी है कि दूरबीन विधि से सर्जरी और किडनी ट्रांसप्लांट की तैयारी भी अस्पताल प्रशासन कर रहा है. सालभर में पूरी टीम तैयार हो जाएगी और व्यवस्थाएं पूरी होने के बाद किडनी ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया भी यहां हो सकेगी.

    Tags: Dehradun news, Government Hospital, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें