लाइव टीवी

यूसैक को मिला अपना भवन... साइंस सिटी का निर्माण भी जल्द, नए आविष्कारकों के लिए बनेगा फंड
Dehradun News in Hindi

News18 Uttarakhand
Updated: February 10, 2020, 6:31 PM IST
यूसैक को मिला अपना भवन... साइंस सिटी का निर्माण भी जल्द, नए आविष्कारकों के लिए बनेगा फंड
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को आमवाला देहरादून में उत्तराखण्ड अंतरिक्ष उपयोग केन्द्र के नवनिर्मित उत्तराखण्ड अंतरिक्ष भवन का लोकार्पण किया.

अब उत्तराखण्ड अपने जल, जंगल, जमीन से जुड़े विषयों में स्पेस टेक्नोलॉजी की सहायता ले सकेगा.

  • Share this:
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को आमवाला देहरादून में उत्तराखण्ड अंतरिक्ष उपयोग केन्द्र (USAC) के नवनिर्मित उत्तराखण्ड अंतरिक्ष भवन का लोकार्पण किया. इस अवसर पर उत्तराखण्ड राज्य जियोइन्फोर्मेटिक्स मीट 2020 का उद्घाटन और उत्तराखण्ड एटलस का विमोचन भी किया गया. मुख्यमंत्री ने कहा कि साइंस सिटी की डीपीआर को स्वीकृति मिल गई है. शीघ्र ही इसका निर्माण शुरू होगा. मुख्यमंत्री ने नवोन्मेषी लोगों के लिए एक फंड बनाने का भी ऐलान किया और कहा कि इससे ऐसे लोगों को जो आर्थिक परिस्थितियों के कारण अपने नवोन्मेषी विधा को बीच में ही छोड़ देते हैं.

उत्तराखंड को बड़ा फ़ायदा 

इस मौके पर यूसैक परिवार को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि USAC  को अपना भवन मिलने से उत्तराखण्ड राज्य को बहुत लाभ होने वाला है. उन्होंने कहा कि अब उत्तराखण्ड अपने जल, जंगल, जमीन से जुड़े विषयों में स्पेस टेक्नोलॉजी की सहायता ले सकेगा. स्पेस टेक्नोलॉजी राज्य के विकास एवं आपातकालीन परिस्थितियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है.

मुख्यमंत्री ने विक्रम साराभाई शताब्दी वर्ष के अवसर पर प्रदेश भर से नवोन्मेषी प्रतिभाओं को खोजने और विज्ञानी माहौल तैयार करने हेतु योजना बनाने की बात कही. उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश में नए आविष्कारों के प्रति एक माहौल बनेगा, जो छात्र छात्राओं और शोधार्थियों को जागरूक करने में सहायक होगा.

स्पेस टेक्नोलॉजी में महारथ 

इसरो के पूर्व चेयरमैन एएस किरन कुमार ने कहा कि आज भारत उन चुनींदा देशों में शामिल है जो स्पेस टेक्नोलॉजी में महारत हासिल रखते हैं. इसकी सहायता से सुपर साइक्लोन जैसी प्राकृतिक आपदाओं के समय हम हजारों जानें बचाने में सफल रहे हैं.

जियोइन्फोर्मेटिक्स की सहायता से सुदूर संवेदन और अंतरिक्ष संचार के क्षेत्र में अनुसंधान एवं विकास कार्यों का सृजन, प्रचार प्रसार, समन्वय, मार्गदर्शन व सहयोग प्राप्त किया जा सकेगा. उन्होंने उत्तराखण्ड के विकास एवं तकनीक के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराने की बात भी कही.इस अवसर पर राज्य मंत्री धनसिंह रावत, विधायक उमेश शर्मा काऊ, दिलीप सिंह रावत, धन सिंह नेगी, मुकेश कोहली, यूसैक निदेशक प्रोफ़ेसर एमपीएस बिष्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

ये भी देखें:

यहां सीता ने ली थी भू-समाधि, अब ‘सीता माता सर्किट’ के रूप में जानेगी दुनिया

‘उत्तराखंड के विकास और पलायन कम करने में मदद कर सकती है अंतरिक्ष तकनीक’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 6:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर