उत्तराखंड: बोर्ड एग्जाम कराने के लिए केंद्र सरकार से मांगा गया 1 करोड़ का बजट
Dehradun News in Hindi

उत्तराखंड: बोर्ड एग्जाम कराने के लिए केंद्र सरकार से मांगा गया 1 करोड़ का बजट
मंत्री अरविन्द पांडेय ने एक जुलाई तक बचे हुए एग्जाम कराने की बात कही है.

उत्तराखंड (Uttarakhand) में कोविड-19 (COVID-19) के पेशेंट जैसे-जैसे बढ़ रहे हैं, बचा हुआ बोर्ड एग्जाम कराने में शिक्षा विभाग की चिंताएं भी बढ़ती जा रही हैं. एग्जाम के दौरान साफ-सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग और स्कूल में भी सैनिटाइजेशन की व्यवस्था जैसी चिंताएं इसमें शामिल हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
देहरादून. उत्तराखंड (Uttarakhand) में कोविड-19 (COVID-19) के पेशेंट जैसे-जैसे बढ़ रहे हैं, बचा हुआ बोर्ड एग्जाम कराने में शिक्षा विभाग की चिंताएं भी बढ़ती जा रही हैं. एग्जाम के दौरान साफ-सफाई कैसे करवाई जाएगी, सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रहना होगा और स्कूल में भी सैनिटाइजेशन की व्यवस्था करानी होगी. इसको लेकर शिक्षा विभाग की तरफ से केंद्र सरकार से कोविड-19 के मद में बजट की डिमांड की गई है, जिससे बचे हुए बोर्ड एग्जाम को सुरक्षित ढंग से संपन्न करवाया जा सके. शिक्षा सचिव आर. मीनाक्षी सुंदरम ने बताया कि बोर्ड एग्जाम के लिए अलग से 1 करोड़ रुपए के बजट की डिमांड केंद्र सरकार को भेजी गई है. बजट मिलते ही एग्जाम की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा.

लॉकडाउन की वज़ह से नहीं हो पाए थे 10वीं और 12वीं के कुछ प्रश्नपत्र
यानी उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद के बचे हुए एग्जाम कराने को लेकर अभी भी पेंच फंसा हुआ है. 10वीं क्लास के अलग-अलग विषयों के 5 प्रश्नपत्र और 12वीं के भी अलग-अलग विषयों 8 प्रश्नपत्र लॉकडाउन की वज़ह से नहीं हो पाए थे. उन्हें शिक्षा विभाग को करवाना है. तकरीबन एक लाख तीस हज़ार छात्र-छात्राएं इन परीक्षाओं में बैठेंगे.

15 जून तक सभी स्कूलों से क्वारंटाइन सेंटर हटाने की मांग: मंत्री



मंत्री अरविन्द पांडेय ने एक जुलाई तक बचे हुए एग्जाम कराने की बात कही है, लेकिन इसमें पेंच यह है कि प्रदेश में 350 से ज्यादा स्कूल क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील हैं. शिक्षा सचिव का कहना है कि उन्होंने 15 जून तक सभी स्कूलों से क्वारंटाइन सेंटर हटाने की अपेक्षा की है ताकी बचे हुए एग्जाम करवाएं जा सकें.



हालांकि सचिव ने न्यूज़ 18 से साफ़ कहा कि एग्जाम की तारीख को लेकर अभी कुछ कहा नहीं जा सकता. यानी केंद्र की ओर से बजट की और फिर क्वारंटाइन सेंटर को लेकर डीएम द्वारा जब तक व्यवस्था नहीं करवा दी जाती तब तक बोर्ड एग्जाम का पेंच फंसा ही रहेगा.

ये भी पढ़ें - 

श्रमिक ट्रेनों से घर जा रहे 9 लोगों की 48 घंटे में मौत
First published: May 29, 2020, 7:16 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading