Assembly Banner 2021

उत्तराखंड सरकार में बदलाव की अटकलें! भाजपा कोर ग्रुप की बैठक से बढ़ी सियासी सरगर्मी, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

रावत राज्य में भाजपा के पांचवें मुख्यमंत्री हैं. (सांकेतिक फोटो)

रावत राज्य में भाजपा के पांचवें मुख्यमंत्री हैं. (सांकेतिक फोटो)

प्रदेश भाजपा (BJP) के सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की कार्यप्रणाली और शासन में उनकी बात न सुने जाने की केंद्रीय नेतृत्व से शिकायत की गई थी. पर्यवेक्षकों ने इस पर भी विधायकों से रायशुमारी की है.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड भाजपा (BJP) की कोर ग्रुप की अचानक हुई बैठक और उसमें केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में पार्टी उपाध्यक्ष और महासचिव व राज्य प्रभारी दुष्यंत गौतम की उपस्थिति ने राज्य सरकार में कुछ बड़े परिवर्तन की अटकलों को हवा दे कर प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा दिया है. अलग-अलग हुई बैठकों के बाद दोनों केंद्रीय नेता दिल्ली लौट गए. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी के नेता रमन सिंह और दुष्यंत गौतम विधायकों व सांसदों से हुई बातचीत के बारे में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे.

प्रदेश इकाई की कोर ग्रुप की यह बैठक पहले से प्रस्तावित नहीं थी और यह ऐसे समय बुलाई गई जब प्रदेश की नई ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में राज्य विधानसभा का महत्वपूर्ण बजट सत्र चल रहा था. बैठक की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को गैरसैंण से तुरंत देहरादून वापस आना पड़ा. आनन- फानन में बजट पारित करा कर सत्र भी अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया और भाजपा विधायकों को भी गैरसैंण से तत्काल देहरादून बुला लिया गया.

बैठक में हर सदस्य से अलग-अलग बातचीत

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज